नहाते वक्‍त न करें ये गलतियां, जाना पड़ सकता है अस्‍पताल

0
0


Winter Bath: विंटर में पानी से डर लगना सामान्‍य बात है. ठंड के चलते सिर्फ बच्‍चे ही नहीं बहुत सारे बड़े लोग भी हैं जो रोजाना नहीं नहाते हैं और कई-कई दिनों तक बिना नहाए रहते हैं. वहीं ज्‍यादातर लोग नहाते तो हैं लेकिन गर्म पानी का इस्‍तेमाल करते हैं. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान दिल्‍ली की निदेशक और आयुर्वेद चिकित्‍सक डॉ. तनुजा नेसरी कहती हैं, ‘आयुर्वेद के अनुसार सर्दी हो या गर्मी, रोजाना नहाना बेहद जरूरी है. स्‍वस्‍थ रहने और स्‍वास्‍थ्‍य को सुधारने के लिए आयुर्वेद का ये पथ्‍यापथ्‍य नियम महत्‍वपूर्ण है.’ हालांकि विंटर में नहाने के दौरान लोग कुछ ऐसी गलतियां कर बैठते हैं, जिनका उन्‍हें अंदाजा भी नहीं होता और उन्‍हें परेशानी उठानी पड़ सकती है.

AIIA के विशेषज्ञ कहते हैं कि विंटर में नहाने के लिए बहुत गर्म पानी नहीं लेना चाहिए. खासतौर पर महिलाएं ज्‍यादा गर्म पानी इस्‍तेमाल करती हैं. कई बार यह पानी इतना गर्म होता है कि त्‍वचा जलने लगती है और नहाने के बाद पूरे बाथरूम में भाप इकठ्ठा हो जाती है. लोग ऐसा थोड़ी देर तक गर्माहट बनी रहने के लिए करते हैं लेकिन यह स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से नुकसानदेह है. इससे स्किन इन्‍फेक्‍शन, जलन, स्किन पर झुर्रियां आ सकती हैं.

गर्म पानी सिर पर डालना

ठंड में अक्‍सर लोग गर्म पानी को सीधे ही सिर पर डालने की गलती करते हैं. विशेषज्ञ कहते हैं कितनी भी ठंड हो सर को गर्म पानी से न धोएं. कोशिश करें कि सर को सादा ठंडे या गुनगुने पानी से धोएं. ऐसा करने से हाई ब्‍लड प्रेशर के मरीजों का बीपी अचानक बढ़ सकता है और उन्‍हें अस्‍पताल जाना पड़ सकता है. बालों को रूखे और बेजान बना सकता है. बाल झड़ सकते हैं. इसके अलावा आंखों की रोशनी पर भी असर पड़ता है.

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

राज्य चुनें

दिल्ली-एनसीआर

राज्य चुनें

दिल्ली-एनसीआर

एकदम ठंडे पानी से नहाना

सर्दी में कुछ लोग एकदम ठंडे टंकी के पानी से या नल के नीचे बैठकर सिर से नहाते हैं. यह भी नुकसानदेह प्रक्रिया है. सिर पर अचानक से तेज ठंडा पानी पड़ने से रक्‍त की नलिकाएं सिकुड़ सकती हैं और शरीर में ब्‍लड सर्कुलेशन पर असर पड़ सकता है. इससे ब्रेन स्‍ट्रोक, लकवा या हार्ट अटैक होने का खतरा पैदा हो जाता है. ऐसे में कोशिश करें कि पानी बहुत ज्‍यादा ठंडा न हो, अगर ठंडे पानी से नहा भी रहे हैं तो पहले ठंडा पानी हाथ-पैरों पर डालें, उसके बाद सिर पर डालें.

जल्‍दबाजी में नहाना

तेज ठंड में नहाते वक्‍त लोग जल्‍दबाजी करते हैं और कुछ मिनट में सिर्फ पानी डालकर ही नहाने की प्रकिया पूरी कर लेते हैं. जबकि आयुर्वेद के अनुसार सर्दी हो चाहे गर्मी हमेशा शरीर को रगड़ कर नहाना बेहद जरूरी है. ताकि पूरी तरह शरीर की सफाई हो सके.

ये है विंटर में नहाने का सही तरीका

एआईआईए के विशेषज्ञ कहते हैं कि सर्दी में नहाने का सबसे अच्‍छा तरीका ये है कि सादा ठंडे पानी से सिर को धुलें और गुनगुने या सहन करने लायक गर्म पानी से शरीर पर नहाएं. हमेशा अभिषेक करने की तरह नहाएं जिसमें पानी सिर से पैर तक जाए. इसके अलावा सर्दियों में भी नदियों, तालाबों, वॉटर टैंक आदि में स्‍नान करना शरीर को रिफ्रेश करने के लिए बेहद लाभदायक है.

Tags: Winter



Source link

पिछला लेखबाबा गोरखनाथ को क्यों चढ़ाई जाती है खिचड़ी? जानिए गोरखपुर के इस मंदिर से जुड़ी पौराणिक कथा
अगला लेखमकर संक्रांति पर खाने पर बनाएं तिल पोली
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।