धार में कारम डैम का पानी निकालने की तैयारी, कंट्रोल रूम से नजर रख रहे सीएम शिवराज सिंह

0
0


Image Source : INDIA TV
CM Shivraj Singh is monitoring the Dhar dam situation from the control room

Highlights

  • कल रात से चेनल बना कर निकाला जाएगा पानी
  • आईजी, कलेक्टर चेनल बनाने की तैयारी में जुटे
  • बांध के निचले इलाकों में बसे 18 गांव कराए खाली

Dhar Dam News: मध्य प्रदेश के धार जिला मुख्यालय से करीब 35 किलोमीटर दूर कारम नदी पर करोड़ों की लागत से एक  बांध बन रहा था। लेकिन इससे पहले कि डैम बनकर तैयार होता, इसकी दीवार से पानी का रिसाव और मिट्टी गिरना शुरू हो चुकी है। लिहाजा इस बांध के टूटने का खतरा पैदा होने की आशंका के मद्देनजर आपदा प्रबंधन के लिए सेना और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीमें शनिवार को मौके पर पहुंच गईं। इसके अलावा, वायुसेना के दो हेलीकॉप्टरों को भी स्टैंड बाई पर रखा गया है, ताकि जरूरत पड़ने पर उन्हें तुरंत लोगों के बचाव में भेजा जा सके। 

मुख्यमंत्री शिवराज के साथ जुटा पूरा सरकारी अमला


घटना की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन ने बांध के निचले क्षेत्र में बसे 18 गांवों को शुक्रवार को ऐहतियातन खाली कराके लोगों को सुरक्षित स्थानों पर राहत शिविरों में भेज दिया है। इसके सभी ऑपरेशन को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह लगातार नजर बनाए हुए हैं। सीएम शिवराज ने कहा, “आज मैं अपनी पूरी टीम के साथ जिसमें सीएस, डीजीपी भी हैं, राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम में बैठा हूं। दोनों मंत्री कल से ही बांध स्थल पर मौजूद हैं। हमारे कमिश्नर, आईजी, इरीगेशन के इंजीनियर, चीफ इंजीनियर समेत पूरा अमला बांध स्थल पर ही मौजूद है। सुबह से हम विशेषज्ञों से सलाह ले रहे हैं।” 

शिवराज सिंह ने कहा, “प्रोफेसर गोयल आईआईटी रुड़की के प्रोफेसर है, इस मामले के विशेषज्ञ माने जाते हैं उनसे भी हमने एडवाइज ली है। रिटायर्ड चीफ इंजीनियर से भी एडवाइस ली है। मेरी बात प्रधानमंत्री  मोदी, गृहमंत्री, केंद्रीय जल शक्ति मंत्री से भी हुई है।”

बांध को काटकर पानी निकालने का काम शुरू

मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज ने आगे कहा, “सभी का यह मत है कि जनता की सुरक्षा को देखते हुए ऐसी स्थिति में बांध में पानी का रहना उचित नहीं है। इसलिए हमने फैसला किया है कि बांध को कट करके हम पानी निकालेंगे। बांध खाली करेंगे। कट करने का काम शुरू कर दिया गया है और हमने उसके पहले ही सभी 18 गांव पूरी तरह से खाली करवा लिए हैं। गांव में कोई भाई बहन ना रहें इसलिए हमारी पूरी टीम घूम रही है।” 

मवेशियों की भी जान बचाने के किए गए जतन

सीएम ने आगे कहा कि कलेक्टर, एसपी, एडीएम, एसडीएम तहसीलदार, नायब तहसीलदार उनके साथ-साथ हमारे पुलिस के जवान, होमगार्ड के जवान, एसडीआरएफ की टीमें, एनडीआरएफ की टीम, आर्मी के कालम सब फील्ड में तैनात हैं और सुनिश्चित कर रहे हैं कि पानी निकलने वाला है। सीएम शिवराज ने बताया कि कोई गांव में ना रहे, हमने यह व्यवस्था भी की है कि गांवों में कोई पशु ना रह जाए। गाय बैल भैंस बकरी-बकरा इनको भी निकालने की व्यवस्था की गई है।





Source link

पिछला लेखअक्षय कुमार ने बताई कनाडा की नागरिकता लेने की वजह, कहा- फिल्में नहीं चलने पर वहीं शिफ्ट होने का बना रहा था प्लान
अगला लेखयूपी के CM योगी आदित्यनाथ और PIL एक्टिविस्ट देवेंद्र तिवारी को मिली बम से उड़ाने की धमकी
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।