दूसरी कंपनियों के प्रति आक्रामक रवैया अपनाएगी कंपनीः मारुति सुज़ुकी

0
15


86000 रु तक का मिल रहा है डिस्काउंट

किआ मोटर्स (Kia Motors), एमजी मोटर्स (MG Motors), ग्रेट वॉल मोटर्स (Great Wall motors) और हाइमा ऑटोमोबाइल्स (Hyma Automobiles) जैसी नयी कंपनियों के आने से घरेलू बाजार में कॉम्पटीशन बढ़ रहा है.

  • News18Hindi



  • Last Updated:
    February 16, 2020, 3:51 PM IST

नयी दिल्ली: कार बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (Maruti Suzuki India) का कहना है कि नई कंपनियों की वजह से बढ़ते कॉम्पटीशन के बीच वह न सिर्फ अपनी बाजार हिस्सेदारी का बचाव करेगी बल्कि इन कंपनियों को लेकर आक्रामक रुख अपनाएगी. कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने यह टिप्पणी की है.

चालू वित्त वर्ष में अप्रैल से जनवरी के दौरान घरेलू यात्री वाहन बाजार में मारुति सुजुकी की 50.59 प्रतिशत हिस्सेदारी रही है. कंपनी के एमडी और चीफ एक्ज़ीक्यूटिव ऑफीसर केनीचि आयुकावा ने पीटीआई भाषा से बातचीत में कहा, ‘‘मैं डिफेन्सिव नहीं हो रहा हूं, मैं आक्रामक हो रहा हूं. यदि उनके प्रोडक्ट्स अच्छे रहे तो हम उन्हें पीछे छोड़ने की कोशिश करेंगे.’’

किआ मोटर्स (Kia Motors), एमजी मोटर्स (MG Motors), ग्रेट वॉल मोटर्स (Great Wall motors) और हाइमा ऑटोमोबाइल्स (Hyma Automobiles) जैसी नयी कंपनियों के आने से घरेलू बाजार में कॉम्पटीशन तेज हो रहा है. इस बारे में यह पूछे जाने पर कि कंपनी नयी परिस्थितियों में हिस्सेदारी बचाने के लिये किस स्तर तक तैयार है, आयुकावा ने यह टिप्पणी की.

उन्होंने कहा कि मारुति सुजुकी को कॉम्पटीशन की आदत है. उन्होंने कहा, ‘‘कॉम्पटीशन हमेशा रहता है. 1990 के दशक में भी नयी कंपनियां आयी थीं, अत: तब भी कॉम्पटीशन था. अभी दक्षिण कोरिया और चीन से नयी कंपनियां आ रही हैं, अत: अभी भी कॉम्पटीशन है.’’उन्होंने कहा, ‘‘हमें खुद ही प्रोडक्ट्स के पोर्टफोलियो को बड़ा करना है और कस्टमर्स को प्रोत्साहित करने के लिये कारोबार का प्रबंधन करना है. इसके साथ ही बिक्री तथा सर्विस का मजबूत नेटवर्क भी तैयार करना है. इन सबके जरिये हम बेहतर तरीके से प्रतिस्पर्धा कर सकेंगे.’’

यह पूछे जाने पर कि क्या कंपनी को नये मॉडल विशेषकर एसयूवी श्रेणी में नये उत्पाद लाने की जरूरत होगी, आयुकावा ने कहा, ‘‘हमें नये मॉडल बनाने होंगे, लेकिन कार का कारोबार सिर्फ उत्पादों से नहीं चलता है, बल्कि इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप उपभोक्ताओं का कितना ध्यान रख पाते हैं.’’

उपभोक्ताओं के साथ संबंध को लेकर उन्होंने कहा, ‘‘यह इस कारण महत्वपूर्ण है कि हम सिर्फ बिक्री नहीं कर रहे हैं, हम बिक्री के बाद उपभोक्ताओं का ध्यान भी रख रहे हैं. कोई उपभोक्ता मारुति को चुनता है क्योंकि हमारे पास डीलरों, बिक्री तथा सेवा केंद्रों की संख्या अच्छी-खासी है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम यह भी सुनिश्चित कर रहे हैं कि कार में कोई खराबी आने पर कल-पुर्जों के लिये उन्हें लंबा इंतजार नहीं करना पड़े. इस तरह की सहूलियत को उपभोक्ता पसंद करते हैं.’’

आयुकावा ने चालू वित्त वर्ष में वृद्धि की संभावनाओं के बारे में कहा कि अब महज दो महीने बचे हैं. बीते 10 महीनों में बिक्री में करीब 18 प्रतिशत की गिरावट आ चुकी है. इतनी बड़ी गिरावट की भरपाई दो महीने में संभव नहीं है. हालांकि उन्होंने कहा कि फेस्टिल सीज़न के बाद बाजार में सुधार हुआ है और इसी कारण कंपनी सुधार को आगे बढ़ाने की कोशिश कर रही है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: February 16, 2020, 3:51 PM IST





Source link