दिलीप कुमार की पुणे से जुड़ी यादें: यहां एक ब्रिटिश कैंटीन में सिर्फ 36 रुपए में किया काम, अंग्रेजों को पसंद थी इनके हाथ की सैंडविच; आजादी का नारा लगाने पर हुए थे गिरफ्तार

0
1


  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Dilip Kumar Untoled Story From Pune: He Worked In A British Canteen For Only 36 Rupees, The British Liked Their Hand Sandwiches; Arrested For Raising Slogans Of Freedom

पुणे23 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अंग्रेजी जानने के चलते उन्हें पुणे के ब्रिटिश आर्मी के कैंटीन में असिस्टेंट की नौकरी मिल गई। दिलीप कुमार को कैंटीन में 36 रुपए मेहनताना मिलता था।

ट्रैजेडी किंग अभिनेता दिलीप कुमार अब हमारे बीच नहीं रहे हैं, लेकिन एक अभिनेता से लेजेंड बनने का उनका सफर आसान नहीं रहा है। 65 से ज्यादा फिल्मों में काम करने वाले दिलीप कुमार का जन्म 11 दिसंबर 1922 को पेशावर में हुआ था। माता-पिता ने उनका नाम मोहम्मद यूसुफ खान रखा, लेकिन मुंबई आने के बाद फिल्मों में दिलीप कुमार के नाम से पहचान मिली। उनके नाम बदलने की कहानी भी बेहद दिलचस्प है।

दिलीप कुमार कुल 12 भाई-बहन थे। उनका बचपन काफी तंगहाली से गुजरा था। दिलीप कुमार के पिता अपने परिवार सहित पेशावर से मुंबई आ गए थे। मुंबई आने के बाद परिवार को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ा। परिवार में अनबन होने के कारण दिलीप कुमार पुणे चले आए। अंग्रेजी जानने के चलते उन्हें पुणे की ब्रिटिश आर्मी कैंटीन में असिस्टेंट की नौकरी मिल गई। दिलीप कुमार को कैंटीन में 36 रुपए मेहनताना मिलता था।

वहीं, उन्होंने अपना सैंडविच काउंटर खोला जो अंग्रेज सैनिकों के बीच काफी लोकप्रिय हो गया था, लेकिन इसी कैंटीन में एक दिन एक आयोजन में भारत की आजादी की लड़ाई का समर्थन करने के चलते उन्हें गिरफ्तार होना पड़ा और उनका काम बंद हो गया। हालांकि, कुछ ही दिनों में उन्हें रिहा कर दिया गया और वे वापस मुंबई आ गए थे। मुंबई आने के बाद पिता के काम में हाथ बटाने लगे और उन्होंने तकिए बेचने का काम भी शुरू किया जो कामयाब नहीं हुआ।

पिता के डर से बदला था नाम
काम के सिलसिले में दिलीप कुमार को उनके दोस्त बॉम्बे टॉकिज की मालकिन देविका रानी से मिलने के लिए लेकर पहुंचे। इस दौरान जब देविका रानी दिलीप कुमार की खूबसूरत और उनकी चाल-ढाल देखकर हैरान रह गईं। जिसके बाद उन्होंने दिलीप को फिल्मों का ऑफर दिया। हालांकि, दिलीप कुमार के पिता को फिल्मों में काम करना बिल्कुल भी पसंद नहीं था। इसलिए उन्होंने पिता के डर से ही उन्होंने अपना नाम मोहम्मद यूसुफ खान से बदलकर दिलीप कुमार रख लिया।

नाम बदलने की सलाह देविका रानी ने ही दी थी। देविका रानी ने नाम की लिस्ट एक्टर को दी। जिसमें एक्टर को ‘वासुदेव’ और ‘दिलीप कुमार’ नाम पसंद आए। बाद में उन्होंने तय किया कि वे दिलीप कुमार नाम रखेंगे।

खबरें और भी हैं…



Source link

पिछला लेखLAC पर चीन ने किया बड़ा बदलाव, भारतीय सेना के आगे सभी रणनीति फेल होने से बौखलाए शी जिनपिंग
अगला लेखआज है बुध प्रदोष व्रत, इस शुभ मुहूर्त में करें शिव उपासना, पूरे होंगे सारे काम
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।