त्रिनिदाद एंड टोबैगो में 18 अगस्त से 10 सितंबर तक लीग होगी, सभी 33 मैच खाली स्टेडियम में होंगे; खिलाड़ियों का दो बार कोरोना टेस्ट होगा

0
3


  • सीपीएल में हिस्सा लेने वाली सभी 6 फ्रेंचाइजी के खिलाड़ी और टीम मैनेजमेंट के सदस्यों को 2 हफ्ते आइसोलेशन में रहना होगा
  • सभी 6 टीमें त्रिनिदाद के एक ही होटल में बायो सिक्योर माहौल में ठहरेंगी, इसके लिए हर टीम को छोटे-छोटे क्लस्टर्स में बांटा जाएगा

दैनिक भास्कर

Jul 10, 2020, 11:36 PM IST

इस साल कैरेबियन प्रीमियर लीग (सीपीएल) त्रिनिदाद एंड टोबैगो में 18 अगस्त से 10 सितंबर तक होगी। फाइनल समेत सभी 33 मुकाबले सिर्फ दो स्टेडियम में ही खेले जाएंगे और दर्शकों की एंट्री पूरी तरह बैन रहेगी। 

सीपीएल और त्रिनिदाद एंड टोबैगो सरकार के बीच हुए एग्रीमेंट के तहत लीग में हिस्सा लेने वाली सभी 6 फ्रेंचाइजी के खिलाड़ी, टीम मैनेजमेंट के सदस्य, क्रू मेंबर और खुद ऑर्गेनाइजिंग कमेटी के मेंबर टूर्नामेंट से दो हफ्ते पहले आइसोलेशन में रहेंगे।

खिलाड़ियों का दो बार कोरोना टेस्ट होगा

इतना ही नहीं त्रिनिनाद एंड टोबैगो आने पर सभी को दो हफ्ते आइसोलेशन में रहना होगा। इसके अलावा सभी खिलाड़ियों का दो बार कोरोना टेस्ट होगा। पहला टेस्ट 7 और दूसरा 14 दिन का आइसोलेशन पूरा होने पर होगा। 

सभी 6 टीमों को बायो सिक्योर होटल में ठहराया जाएगा

सभी 6 टीमें त्रिनिदाद के एक ही होटल में बायो सिक्योर माहौल में ठहरेंगी। इसके लिए हर टीम को छोटे-छोटे क्लस्टर्स में बांटा जाएगा। अगर किसी वजह से टूर्नामेंट से पहला या उसके दौरान किसी क्लस्टर का कोई एक खिलाड़ी कोरोना संक्रमित पाया जाता है, तो सबको सेल्फ आइसोलेट होना पड़ेगा। जिस होटल में टीमें ठहरेंगी, उसमें किसी दूसरे गेस्ट को नहीं रखा जाएगा।  

हमें इस टूर्नामेंट के सफल आयोजन की उम्मीद: खेल मंत्री

त्रिनिदाद एंड टोबैगो के खेल मंत्री सैम्फा कुडजो ने कहा कि हम कोरोना से पैदा हुए हालात की लगातार समीक्षा करेंगे। जरूरत पड़ने पर नियमों में बदलाव भी करेंगे। उन्होंने कहा कि हमें इस टूर्नामेंट के सफल आयोजन की पूरी उम्मीद है। अगर ऐसा करने में हम कामयाब होते हैं, तो दूसरी खेल गतिविधियों के लिए भी रास्ता साफ हो जाएगा। 

त्रिनिदाद एंड टोबैगो में कोरोना के 133 मामले
कोरोना के कारण त्रिनिदाद एंड टोबैगो में मार्च से ही लॉकडाउन लगा हुआ है। सीपीएल के जरिए पहली बार विदेशी लोग यहां पहुंचेंगे। इस कैरेबियाई देश में कोरोना का असर बहुत ज्यादा नहीं रहा। शुरुआत में ही यहां दूसरे देशों के लोगों के आने पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया था। इसमें आस-पास के कई कैरेबियाई देश भी शामिल हैं।

इसकी वजह से यहां 9 जुलाई तक कोरोना के सिर्फ 133 पॉजिटिव केस ही सामने आए, जबकि 8 लोगों की मौत हुई।



Source link

पिछला लेखHealth Tips: खाली पेट न खाएं ये फूड्स, वरना हो सकते हैं परेशान
अगला लेखमवेश‍ियों से बचने की कोशिश में पलट गई कार, विकास दुबे ने की भागने की कोश‍िश : पुलिस, 10 अहम बातें…
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।