होम ऑटो … तो क्या नोएडा में होने जा रही है Moto GP, जानें...

… तो क्या नोएडा में होने जा रही है Moto GP, जानें कब होगी ऑर्गनाइज, क्या हैं तैयारियां

0
0


हाइलाइट्स

मोटो जीपी को लेकर आयोजनकों के बीच आने वाले सप्ताह में एमओयू साइन हो सकता है.
देश में नौ साल बाद होगी कोई ऐसी प्रतियोगिता.
5 हजार लोग रेस के लिए करेंगे काम.

नई दिल्ली. इंडिया में मोटो जीपी 2023 के लास्ट क्वार्टर में होने की बात सामने आ रही है. सूत्रों के अनुसार मोटो जीपी के बिजनेस राइट्स ओनर डोर्नो और नोएडा के रेस प्रमोटर फ्रेयरस्ट्रीट स्पोर्ट्स के बीच आने वाले सप्ताह में एमओयू साइन हो सकता है. बताया जा रहा है कि आने वाले बुधवार को इसकी घोषणा हो सकती है जब डोर्नो के मैनेजिंग डायरेक्टर कार्लोस एजपेलेटा और सीईओ कार्मेलो एजपेलेटा दिल्ली पहुंचेंगे.

मोटो जीपी अगर इंडिया में ऑर्गनाइज होती है तो बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट पर इसका आयोजन किए जाने की बात चल रही है. गौरतलब है कि बुद्ध सर्किट पर फॉर्मूला वन का आयोजन भी हुआ था लेकिन बाद में फाइनेंशियल, टेक्स और अन्य समस्याओं के चलते ये बंद हो गया. वहीं बताया जा रहा है कि एमओयू साइन होने के बाद एफआईएच ट्रैक का इंस्पेक्‍शन करेगी और सभी स्थितियां ठीक होने के बाद रेस के लिए हरी झंडी दे दी जाएगी.

सभी तैयारियां पूरी की
रेस को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं, इस बात की जानकारी देते हुए फेयरस्ट्रीट स्पोर्ट्स के सीओओ पुष्कर नाथ ने कहा कि नौ साल पहले फॉर्मूला वन के दौरान जो जो गलतियां हुई थीं उन्हें ध्यान में रखा गया है और इस बार का आयोजन स्मूथ होगा. मोटरसाइलिक मार्केट इंडिया में काफी बड़ा है और लोगों का मोटरसाइकिल को लेकर खासा क्रेज है. ऐसे में ये आयोजन सफल होगा. साथ ही उन्होंने कहा कि मोटो ग्रां प्री दुनिया में सबसे ज्यादा देखे जाने वाले खेलों में से एक है.

मोटर स्पोर्ट महासंघ एफएमएससीआई के प्रेसिडेंट अकबर इब्राहिम ने बताया कि हमने रेस को लेकर सभी एहतियाती कदम उठा लिए हैं. हमारी योजना है कि ऐसे आयोजन हम देश में लंबे समय तक करवा सकें. उन्होंने बताया कि 2023 के आखिरी क्वार्टर में हम रेस करवाने की कोशिश में हैं.

उन्होंने कहा कि रेस अगर नोएडा में होती है तो उत्तर प्रदेश को वर्ल्ड मैप पर अपनी जगह बनाएगा, साथ ही यहां पर टूरिज्म को भी बढ़ावा मिलेगा. उन्होंने इस दौरान केंद्र और राज्य सरकार का अभार जताया और कहा कि उनके बिना ऐसे आयोजन संभव नहीं हैं. ये हमारे लिए ऐसा है जैसे राष्ट्रमंडल खेल हों क्योंकि 5 हजार लोग रेस के लिए काम कर रहे हैं. वहीं नाथ ने बताया कि यदि रेस का आयोजन होता है तो 200 देशों में इसका लाइव टेलिकास्ट होगा.

Tags: Auto News, Greater noida news



Source link