होम विदेश डोनाल्ड ट्रम्प के घर FBI की रेड: एजेंट्स ने घर को घेरा,...

डोनाल्ड ट्रम्प के घर FBI की रेड: एजेंट्स ने घर को घेरा, तलाशी जारी; ट्रम्प बोले- वे मुझे 2024 का चुनाव लड़ने से रोक रहे

0
0


  • Hindi News
  • International
  • FBI Launches Search At Former US President’s Home; Trump Wants To Contest President’s Election For The Second Time

वॉशिंगटन33 मिनट पहले

अमेरिकी जांच एजेंसी FBI ने पूर्व राष्ट्रपति के आलीशान पॉम हाउस और रिजॉर्ट मार-ए-लीगो पर सोमवार देर रात (भारत में मंगलवार तड़के) छापा मारा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, FBI के कई एजेंट्स ने ट्रम्प के घर को घेर लिया है और तलाशी ली जा रही है। खुद डोनाल्ड ट्रम्प ने इस रेड की पुष्टि की है। उधर, ट्रम्प का कहना है कि वे मुझे चुनाव लड़ने से रोक रहे हैं।

ट्रम्प ने कहा, ‘फ्लोरिडा में मेरे पॉम बीच स्थित खूबसूरत घर मार-ए-लीगो को FBI ने कब्जे में ले लिया है। यहां की तलाशी ली जा रही है। यहां FBI के एजेंट्स मौजूद हैं।”

मीडिया ने जब FBI के प्रवक्ता से इस बारे में सवाल पूछे तो उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

ट्रम्प ने कहा, यह हमारे देश के लिए काला वक्त है
अमेरिका के राष्ट्रपति के साथ ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। जांच एजेंसियों के साथ सहयोग के बावजूद इस तरह की कार्रवाई की जा रही है। यह न्याय तंत्र का हथियार के तौर पर गलत इस्तेमाल करने जैसा है। यह कट्टर लेफ्ट डेमोक्रेट्स का हमला है। वे नहीं चाहते हैं कि मैं 2024 का चुनाव लड़ूं।

ट्रम्प के आलीशान पॉम हाउस और रिजॉर्ट मार-ए-लीगो को FBI एजेंट्स ने घेर लिया। चारों तरफ गार्ड्स तैनात देखे जा रहे हैं।

ट्रम्प के दो करीबियों ने न्यूयॉर्क टाइम्स से बातचीत में कहा कि यह रेड बिना किसी नोटिस के की गई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिस वक्त FBI एजेंट्स ने मार-ए-लीगो पर छापा मारा, उस वक्त खुद ट्रम्प वहां नहीं थे। बताया जाता है कि वो फिलहाल न्यूजर्सी में हैं। यहां वो एक केस के सिलसिले में गए हैं। कुछ दिन पहले ही ट्रम्प के खिलाफ 6 जनवरी की हिंसा के मामले में जांच कर रही एक पार्लियामेंट्री कमेटी ने कहा था कि FBI को उनके खिलाफ जांच तेज करनी चाहिए।

ट्रम्प पर व्हाइट हाउस से महत्वपूर्ण दस्तावेज ले जाने का आरोप

यह फोटो जनवरी 2021 की है। व्हाइट हाउस छोड़ते वक्त ट्रंप 15 बॉक्स में अपने साथ कई डॉक्यूमेंट्स ले गए थे।

यह फोटो जनवरी 2021 की है। व्हाइट हाउस छोड़ते वक्त ट्रंप 15 बॉक्स में अपने साथ कई डॉक्यूमेंट्स ले गए थे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, ट्रम्प ने जब पिछले साल व्हाइट हाउस छोड़ा था, तब वो कई डॉक्यूमेंट्स अपने साथ ले गए थे। हालांकि, अब तक इस आरोप की FBI की तरफ से कोई पुष्टि नहीं की गई है। कहा जा रहा है कि कई बड़े बॉक्स में यह दस्तावेज मार-ए-लीगो ले जाए गए थे। इसके बाद से ही अमेरिकी खुफिया एजेंसियां ट्रम्प और उनके करीबियों पर नजर रख रहीं थीं। ये छापेमारी भी इन्हीं से जोड़कर देखी जा रही है।

यह फोटो भी जनवरी 2021 की है। जब कर्मचारी ये महत्वपूर्ण दस्तावेज व्हाइट हाउस से निकाल रहे थे। हालांकि,ट्रम्प ने ये बक्से एक साल बाद जनवरी 2022 को नेशनल आर्काइव्स को वापस भी कर दिए थे। फिर भी यह रेड इसलिए मारी गई, ताकि यह पता लगाया जा सके कि क्या ट्रम्प के दक्षिण फ्लोरिडा के आलीशन घर में अतिरिक्त रिकॉर्ड या कोई संवेदनशील दस्तावेज तो नहीं हैं।

यह फोटो भी जनवरी 2021 की है। जब कर्मचारी ये महत्वपूर्ण दस्तावेज व्हाइट हाउस से निकाल रहे थे। हालांकि,ट्रम्प ने ये बक्से एक साल बाद जनवरी 2022 को नेशनल आर्काइव्स को वापस भी कर दिए थे। फिर भी यह रेड इसलिए मारी गई, ताकि यह पता लगाया जा सके कि क्या ट्रम्प के दक्षिण फ्लोरिडा के आलीशन घर में अतिरिक्त रिकॉर्ड या कोई संवेदनशील दस्तावेज तो नहीं हैं।

टॉयलेट में फ्लश कर देते थे डॉक्यूमेंट्स
कुछ महीने पहले ट्रम्प पर आरोप लगा था कि वे राष्ट्रपति पद पर रहते हुए आधिकारिक दस्तावेजों को फाड़ कर फ्लश कर देते थे। ट्रम्प ने इतने ज्यादा कागजों को फ्लश किया कि इसकी वजह से व्हाइट हाउस का टॉयलेट ही जाम हो गया था। नेशनल आर्काइव चाहता है कि पूर्व राष्ट्रपति की दूसरे मामलों के साथ कागज फाड़ने की आदत की भी जांच की जाए।

न्यूयॉर्क टाइम्स की पत्रकार मैगी हैबरमैन ने अपनी किताब ‘कॉन्फिडेंस मैन’ में इस मामले पर जानकारी दी थी। किताब के मुताबिक, व्हाइट हाउस के कर्मचारियों ने यह देखा कि कागज की वजह से टॉयलेट चोक हो गया था। जिसके बाद यह माना गया कि ट्रम्प ने दस्तावेजों को फ्लश किया।

चुनाव लड़ना चाहते हैं ट्रम्प
ट्रम्प ने कई मौकों पर साफ किया है कि वो एक बार फिर राष्ट्रपति चुनाव लड़ना चाहते हैं। खास बात यह है कि उनकी रिपब्लिकन पार्टी में उनको चैलेंज करने वाला उनके कद का कोई दूसरा नेता है भी नहीं। हालांकि, पिछले साल 6 जनवरी को हुई हिंसा के मामले में भी उनके खिलाफ गंभीर आरोप हैं और वो महाभियोग का सामना भी कर चुके हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link