जैकलीन के वकली बोले- चार्जशीट में नाम आना साजिश: कहा- इस केस में मेरी क्लाइंट विक्टिम हैं; एक्ट्रेस ने पोस्ट शेयर कर खुद बताया मजबूत

0
1


15 मिनट पहले

एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडीज मनी लॉन्ड्रिंग केस के चलते सुर्खियों में बनी हुई हैं। हाल ही मे आई रिपोर्ट्स के अनुसार, ED जैकलीन को मनी लॉन्ड्रिंग केस में आरोपी बनाने की तैयारी में है। इस मामले में एक्ट्रेस के वकील प्रशांत पाटिल ने बयान जारी कर सफाई दी है। उनका कहना है कि ED की तरफ से हमें अभी तक ऑफिशियल कोई जानकारी नहीं मिली है। वहीं आरोपी बनाए जाने की खबर के बाद जैकलीन ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर किया। इसमें उन्होंने लिखा- मैं सारी अच्छी चीजें पाने के लायक हूं।

मेरी क्लाइंट इस केस में विक्टिम हैं- वकील
जैकलीन के वकील ने अपने बयान में कहा- फिलहाल हमें सिर्फ इतना पता चला है कि ED ने शिकायत दर्ज कराई है। हालांकि यह भी जानकारी हमें मीडिया रिपोर्ट्स से ही मिली है। ED की तरफ से अभी तक कोई ऑफिशियल कम्यूनिकेशन नहीं हुआ है। मेरे क्लाइंट को शिकायत की कोई कॉपी भी नहीं मिली है। मीडिया रिपोर्ट्स अगर सही हैं तो यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि उन्हें केस में आरोपी बनाया जा रहा है। सच यह है कि मेरी क्लाइंट इस में विक्टिम हैं, उनके साथ खुद धोखाधड़ी हुई है। कॉनमैन सुकेश ने उन्हें भी ठगा है। मेरी क्लाइंट ने शुरुआत से ही पूछताछ में जांच एजेंसी का साथ दिया है। चार्जशीट में जैकलीन का नाम आना एक बड़ी साजिश है।

सब ठीक हो जाएगा- जैकलीन
जैकलीन फर्नांडीज ने पोस्ट शेयर कर लिखा- डियर मी, मैं सभी अच्छी चीजों को पाने के लायक हूं, मैं शक्तिशाली हूं और खुद को एक्सेप्ट भी करती हूं। एक दिन सब ठीक हो जाएगा, मैं मजबूत हूं। मैं अपने लक्ष्यों और सपनों को हासिल करूंगी, हां मैं यह कर सकती हूं।

क्यों बनाया जा रहा जैकलीन को आरोपी
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ED का मानना है कि जैकलीन को शुरू से पता था कि इस केस के मख्य आरोपी सुकेश चंद्रशेखर ठग है और वह जबरन वसूली करने वाला है। दोनों रिलेशन में भी थे। इनकी कई प्राइवेट फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं, जिसके बाद ED ने जैकलीन से पूछताछ की और दोनों की फोटोज को सबूत के रूप में रखा है। ED ने अप्रैल में एक्ट्रेस की सात करोड़ से अधिक संपत्ति अटैच की थी। सुकेश ने रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर्स की पत्नियों से 200 करोड़ रुपए वसूले थे।

200 करोड़ ठगी का पूरा मामला
सुकेश चंद्रशेखर से जुड़े केस में सबसे पहले दिल्ली पुलिस में FIR दर्ज हुई थी। उस FIR पर दिल्ली EOW ने अगस्त में जांच शुरू की। इस मामले में ED ने भी मनी लॉन्ड्रिंग की जांच शुरू कर दी थी। सुकेश पर आरोप है कि उसने रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह और मालविंदर सिंह को जेल से बाहर निकलवाने का झांसा देकर उनकी पत्नियों से 200 करोड़ से अधिक की ठगी की।

सुकेश खुद को कभी PM ऑफिस और कभी गृह मंत्रालय से जुड़ा अधिकारी बताता। उसकी इस धोखाधड़ी में तिहाड़ जेल के कई अफसर भी शामिल थे। सुकेश इन सभी को मोटी रकम देता था। ED ने 24 अगस्त को चेन्नई में सुकेश का सी-फेसिंग बंगला सीज कर लिया था। बंगले से 82.5 लाख रुपए, 2 किलो सोना और 12 से ज्यादा लग्जरी कारें जब्त की गई थीं।

खबरें और भी हैं…



Source link

पिछला लेखUGC Scholarship 2022: अगर लेना चाहते हैं हायर स्टडी में फाइनेंशियल मदद तो यूजीसी के ये स्कॉलरशिप करेंगे मदद
अगला लेखअसिस्टेंट प्रोफेसर, AO-AAO एग्जाम के एडमिट कार्ड अपलोड: 25 से 30 अगस्त तक अजमेर मुख्यालय पर दो पारियों में होंगे एग्जाम
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।