चाइनीज डिश का स्वाद बढ़ाने वाला अजीनोमोटो सेहत को पहुंचा सकता है कई नुकसान

0
2


Ajinomoto Side Effects: चायनीज फूड (Chinese food) बहुत लोगों को पसंद होता है. जिसकी वजह से कभी हम इसे रेस्टोरेंट से ऑर्डर करते हैं तो कभी-कभी चाउमीन और मंचूरियन जैसी चीजों को बनाने के लिए घर पर भी हाथ आजमा लेते हैं. चायनीज फूड बाहर से ऑर्डर किया जाए या फिर घर पर तैयार किया जाए. इसका स्वाद बढ़ाने के लिए एक चीज का इस्तेमाल दोनों जगहों पर किया जाता है. ये चीज है अजीनोमोटो (Ajinomoto) जिसका असली नाम एमएसजी यानी मोनोयोडियम ग्लूटामेट (Monosodium glutamate) है.

चाइनीज डिश का स्वाद बढ़ाने वाले इस अजीनोमोटो के सेवन से सेहत को कई तरह के नुकसान भी हो सकते हैं. क्या आप इस बात को जानते हैं ? अगर नहीं तो आज हम आपको बताते हैं कि अजीनोमोटो यानी एमएसजी क्या है और इसके लगातार सेवन से ये किस तरह से धीमा ज़हर बनकर सेहत को नुकसान पहुंचाने का काम करता है. आइए जानते हैं इसके बारे में.

ये भी पढ़ें: ज्यादा ही नहीं, कम नमक खाने से भी हो सकता है सेहत को नुकसान

क्या है अजीनोमोटो

अजीनोमोटो एक प्रकार का केमिकल है. इसका इस्तेमाल चाइनीज फूड का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है. अजीनोमोटो सफेद क्रिस्टल पाउडर की तरह होता है और चीनी-नमक से बहुत मिलता-जुलता है. इसको एमएसजी यानी मोनोयोडियम ग्लूटामेट के नाम से भी जाना जाता है.

सेहत को ये होते हैं नुकसान

अजीनोमोटो के लगातार और लम्बे समय तक सेवन करने से दिमाग की नसें उत्तेजित होने  लगती हैं और न्यूरोट्रांसमीटर को बढ़ा देती हैं. जिससे सिर दर्द, व्यवहार में बदलाव जैसी दिक्कतें होने लगती हैं.

चाइनीज खाने में इस्तेमाल होने वाला अजीनोमोटो ब्लड प्रेशर की दिक्कत को पैदा कर सकता है. ये स्वाद बढ़ाने वाला सोडियम ग्लूटामेट हाइपर टेंशन का शिकार बना सकता है.

चायनीज फूड को टेस्टी बनाने वाले अजीनोमोटो की वजह से धड़कन की गति तेज हो सकती है. साथ ही घबराहट और सीने में दर्द की शिकायत भी हो सकती है.

ये भी पढ़ें: अपने सोडियम लेवल को लेकर हैं अगर परेशान, ये 4 तरह के नमक करेंगे मदद

इसके साथ ही चाइनीज फूड खाने की वजह से अंगों के सुन्न होने, उल्टी और पसीना आने, शरीर में दर्द और कमज़ोरी जैसी दिक्कतें भी होने लगती हैं.

शरीर में किसी भी तरह की एलर्जी होने पर इसके सेवन से एलर्जी की दिक्कत और भी ज्यादा बढ़ सकती है. एलर्जिक लोगों के लिए इसका लम्बे समय तक या ज्यादा मात्रा में सेवन करना ही नहीं बल्कि कम मात्रा में सेवन करना भी मुसीबत का सबब बन सकता है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

पिछला लेखभारत में इस दशक के दौरान सात प्रतिशत से ज्यादा जीडीपी वृद्धि की उम्मीद: मुख्य आर्थिक सलाहकार
अगला लेखरोमांटिक रिलेशनशिप शारीरिक और मानसिक सेहत को रखता है ठीक- एक्सपर्ट
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।