गांधी गोडसे एक युद्ध पर बापू के परपोते का रिएक्शन: तुषार गांधी बोले- मैं ऐसी फिल्म नहीं देखना चाहता जो हत्यारे को हीरो बताए

0
0


7 घंटे पहले

डायरेक्टर राजकुमार संतोषी की अपकमिंग फिल्म गांधी गोडसे एक युद्ध का ट्रेलर 11 जनवरी को रिलीज हो चुका है। ट्रेलर सामने आने के बाद से ही फिल्म विवादों में है। कांग्रेस से जुड़े लोगों ने मध्य प्रदेश में इस फिल्म पर बैन लगाने की मांग की थी। विवाद के बीच महात्मा गांधी के परपोते तुषार गांधी ने फिल्म पर अपना रिएक्शन दिया है। मीडिया को दिए इंटरव्यू उन्होंने कहा कि वो ऐसी फिल्म हरगिज नहीं देखना चाहेंगे, जिसमें किसी हत्यारे का महिमा बताई गई है।

मैं ऐसी फिल्म नहीं देखना चाहता जो हत्यारे को हीरो बताए- तुषार गांधी
इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत के दौरान तुषार ने कहा- मुझे इस बात पर आश्चर्य नहीं है क्योंकि, गोडसे उनके लिए एक हीरो है। अगर वो गोडसे को हीरो को रूप में दिखाते हैं, तो यह कोई हैरानी की बात नहीं है। लेकिन मैं फिल्म की खूबियों या खामियों पर कुछ भी नहीं कह सकता हूं, क्योंकि मैंने फिल्म नहीं देखी है। मैं ऐसी फिल्मों को देखने का इरादा नहीं रखता हूं जो हत्यारों की महिमा गाती है।

इसी डायरेक्टर ने फिल्म भगत सिंह में बापू को गलत तरह से पेश किया- तुषार गांधी
तुषार गांधी आगे कहते हैं- यह एक बहुत ही सोचा-समझा गेम प्लान है। मेकर्स ने सभी किरदारों को उनकी भूमिकाएं दी हैं, जिसे एक्टर्स ने बड़े पर्दे पर प्ले किया है। उसी डायरेक्टर ने अपनी फिल्म भगत सिंह में बापू को बहुत गलत तरह से पेश किया है। इसलिए यह कोई हैरानी की बात नहीं है कि वह गोडसे का महिमामंडन करने वाली फिल्म बनाएंगे।’

विचारों की जंग लड़ते दिखे गांधी-गोडसे
फिल्म के ट्रेलर की शुरुआत आजादी और बंटवारे के बाद हुए दंगों से होती है। जहां गोडसे गांधी को बंटवारे का जिम्मेदार मानता है और उनकी हत्या करने की योजना बनाता है। इस दौरान वो कहता है कि- ‘वो हिंदुत्व पर गर्व करता है। उसके लिए वो अपनी जान दे भी सकता है और किसी की जान ले भी सकता है।अब गांधी को मरना होगा।’

क्या होता अगर गांधी जिंदा होते?
ट्रेलर में यहां से ट्विस्ट आता है, जब प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू आकर बताते हैं कि बापू जिंदा हैं। बापू ठीक होने के बाद गोडसे से मिलने जेल जाते हैं। यहीं पर दोनों के बीच विचारों का युद्ध होता है। बापू अपने अहिंसा के विचारों पर अड़े रहते हैं और गोडसे अपने विचारों को मजबूत साबित करने की कोशिश करता है। विचारों के युद्ध के बीच गोडसे गांधी पर देश का बंटवारा करने का आरोप लगाता है, जिसपर बापू बताते हैं कि उनपर यह आरोप पूरी तरह से गलत है।

गांधी-गोडसे एक युद्ध से क्लैश करेगी किंग खान की पठान
गांधी गोडसे एक युद्ध गणतंत्र दिवस के मौके पर 26 जनवरी को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है। बॉक्सऑफिस पर इस फिल्म का मुकाबला शाहरुख खान की पठान से होने वाला है। बता दें कि पठान 25 जनवरी को रिलीज होगी। यही वजह है कि फिल्म को लेकर और भी ज्यादा हाइप बनी हुई है।

खबरें और भी हैं…



Source link

पिछला लेखIBPS Exam Calendar 2023: आईबीपीएस एग्जाम कैलेंडर जारी, यहां देखें कब होगी बैंकिंग सेक्टर की महत्वपूर्ण परीक्षाएं
अगला लेखकिचन में मौजूद इन 2 चीजों से सफेद बाल बनेंगे काले, हेयर कलर खरीदने की नहीं पड़ेगी जरूरत, बाल होंगे हेल्दी, शाइनी
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।