कोल्ड ड्रिंक्स से होने वाले इन नुकसान के बारे में नहीं जानते होंगे आप! जानेंगे तो आज ही पीना छोड़ देंगे

0
1


नई दिल्लीः कोल्ड ड्रिंक्स, पैक्ड जूस आज युवा पीढ़ी के पसंदीदा पेय पदार्थों में से एक हैं. हालांकि इन कोल्ड ड्रिंक्स का शरीर पर पड़ने वाला नुकसान इतना गंभीर है कि ये इंसानी शरीर को बेहद बीमार बना रही हैं. हम यहां आपको कुछ ऐसे कारण बता रहे हैं, जो ये बताते हैं कि कोल्ड ड्रिंक, पैक्ड जूस और शुगर ड्रिंक हमारी सेहत को नुकसान पहुंचा रहे हैं. 

वजन बढ़ने का कारण
कोल्ड ड्रिंक्स और अन्य शुगर ड्रिंक्स में सुक्रोज पाई जाती है, जिससे फ्रक्टोज बनती है. फ्रक्टोज से हमें कैलोरी मिलती है और चूंकि कोल्ड ड्रिंक्स में बहुत ज्यादा मात्रा में शुगर होती है, ऐसे में इनके लगातार सेवन से मोटापे का खतरा बढ़ जाता है. हेल्थलाइन वेबसाइट के अनुसार, एक स्टडी में पता चला है कि जो लोग रोजाना शुगर ड्रिंक्स का सेवन करते हैं, उनमें मोटापे की समस्या होने का खतरा 60 फीसदी तक बढ़ जाता है. 

लीवर के लिए नुकसानदायक
कोल्ड ड्रिंक्स व अन्य शुगर ड्रिंक्स से हमें ग्लूकोज और फ्रक्टोज मिलता है. ग्लूकोज को हमारी बॉडी की कोशिकाएं (Cell) मेटाबॉलाइज्ड करती हैं, जबकि फ्रक्टोज को मेटाबॉलाइज्ड लीवर करता है. चूंकि इन ड्रिंक्स में शुगर ज्यादा होता है तो फ्रक्टोज को पचाने में लीवर को बहुत मशक्कत करनी होती है. ऐसे में कई बार ओवरलोड के चलते व्यक्ति के लीवर में सूजन आ जाती है.

तोंद निकलने का बनती है कारण
हेल्थ वेबसाइट हेल्थलाइन के मुताबिक, कोल्ड ड्रिंक्स और सॉफ्ट ड्रिंक्स से मिलने वाले फ्रक्टोज के चलते इंसान के पेट के आसपास फैट जमा होता है. ऐसे में ज्यादा शुगर ड्रिंक्स पीने वाले व्यक्ति को तोंद निकलने की समस्या हो सकती है. वहीं तोंद की समस्या डायबिटीज और दिल की बीमारियों का कारण बनती है. 

इंसुलिन असंतुलन का बनती हैं कारण
शुगर ड्रिंक्स के चलते शरीर में शुगर की मात्रा तेजी से बढ़ती है. ऐसे में इस बढ़ी हुई शुगर को नियंत्रित करने का काम इंसुलिन करता है. लेकिन अगर बार बार ये समस्या होने लगे तो इससे शरीर में इंसुलिन का बैलेंस भी बिगड़ सकता है. 

टाइप-2 डायबिटीज का खतरा
टाइप-2 डायबिटीज दुनियाभर में कॉमन बीमारी है, जिससे करोड़ो लोग पीड़ित हैं. कोल्ड ड्रिंक्स और सॉफ्ट ड्रिंक्स में बहुत ज्यादा शुगर होती है, इसलिए इनके सेवन से टाइप-2 डायबिटीज का खतरा बेहद  ज्यादा रहता है. साथ ही इन ड्रिंक्स में कोई पोषक तत्व नहीं होते हैं और इनसे शरीर को सिर्फ बहुत ज्यादा मात्रा में शुगर मिलती है. 

कुछ रिसर्च में पता चला है कि ये शुगर सोडा एडिक्टिव भी हो सकता है. दरअसल इन शुगर ड्रिंक्स में जो शुगर मिलती है, उससे दिमाग में डोपामाइन रिलीज होता है, जो हमें अच्छा फील कराता है. यही वजह है कि ये ड्रिंक्स एडिक्टिव हो सकती हैं.





Source link

पिछला लेखआज का नक्षत्र: 19 जुलाई को रहेगा दशमी की तिथि और अनुराधा नक्षत्र
अगला लेखIshan Kishan Fifty On ODI Debut: ईशान किशन ने डेब्यू वनडे में जड़ी 33 गेंदों में फिफ्टी, खास रेकॉर्ड लिस्ट में दर्ज हुआ नाम
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।