कोरोना संकट में ऑनलाइन एजुकेशन बना उत्तराखंड के सरकारी स्कूलों में चुनौती, ये है वजह

0
8


सरकारी स्कूलों में गरीब तबके के बच्चे पढते हैं, लिहाजा उनके पास ना तो तो स्मार्ट फोन हैं और ना ही लैपटॉप.

फाइल फोटो.





Source link

पिछला लेखमाईलैन को भारत में रेमडिसिविर उतारने की अनुमति, प्रति शीशी कीमत 4,800 रुपये
अगला लेखRCFL Recruitment: मैनेजमेंट ट्रेनी, असिस्टेंट ऑफिसर, इंजीनियर समेत 393 पदों के लिए निकली वैकेंसी
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।