कोरोना केसों में उछाल के बीच अगले 24 घंटों में महाराष्‍ट्र और पंजाब का दौरा करेगी केंद्र की टीम : सूत्र

0
2


केंद्र सरकार की टीम कोरोना प्रभावित महाराष्‍ट्र और पंजाब का दौरा करेंगी (प्रतीकात्‍मक फोटो)

खास बातें

  • स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के शीर्ष आधिकारिक सूत्रों ने दी जानकारी
  • ये टीमें ज्यादा प्रभावित डिस्ट्रिक्ट का दौरा करेंगी
  • जिले के अफसरों के साथ बैठकर ब्रीफ किया जाएगा

नई दिल्ली:

कोरोना केसों में आए उछाल (Rise on corona cases) के मद्देनजर अगले 24 घंटों में केंद्र सरकार (Central government) की टीम महाराष्ट्र और पंजाब का दौरा करेगी. यह जानकारी स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय (MoHFW) के शीर्ष अधिकारिक सूत्रों ने दी. सूत्रों ने बताया कि कई टीम बनाई जा रही हैं, सबको आज ट्रेनिंग भी दी जाएगी. टीमें ज्यादा प्रभावित डिस्ट्रिक्ट का दौरा करेगी और सुझाव देंगी. इसके सदस्‍य, हर ज़िले की स्थिति को देखेंगे और मैपिंग करेंगे. ज़िले में मामलों के हिसाब से कंटेनमेंट स्ट्रेटजी बनाई जाएगी. कंटेनमेंट ज़ोन में क्या और कैसे किया जाना चाहिए, वो जिले के अधिकारी के साथ बैठकर ब्रीफ किया जाएगा.

यह भी पढ़ें

भारत में पहली बार नए कोरोनावायरस केस का आंकड़ा एक लाख पार, पिछले 24 घंटे में 1,03,558 केस

शीर्ष आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि 3-4 लोगों की एक टीम में पब्लिक हेल्थ स्पेशलिस्ट और क्लिनिशियन और स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी शामिल होंगे. प्राथमिकता में वो राज्य भी रखे जाएंगे, जहां मामले कम आ रहे हैं और कम मामलों के बीच वहां आसानी से कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग मुमकिन है. 

दिल्ली के एक स्कूल में पहले प्रिंसिपल फिर 9 बच्चे मिले कोरोना पॉजिटिव

बढ़ते ट्रेंड (Rising Trend) वाले राज्यों पर फोकस करने की ज़रूरत ज़्यादा है जैसे-दिल्ली, जहां मामले लगातार बढ़ रहे हैं. इसके साथ ही कर्नाटक, तमिलनाडु, मध्यप्रदेश, यूपीप्रभावित जिलों में माइक्रो कंटेनमेंट की रणनीति अपनाई जाएगी. राज्यों में मामले अगर ज्यादा हैं तो कंटेनमेंट स्ट्रेटजी पूरे राज्य के लिए एक जैसी नहीं बल्कि ज़िले के स्तर पर इसको देखकर लागू करना ठीक है. बाज़ार, हाई राइजिंग बिल्डिंग, कॉलोनी हर जगह की कंटेनमेंट स्ट्रेटजी एक जैसी करना मुमकिन नहीं है. अलग-अलग तरीके से अपनानी होगी, तभी यह कारगर साबित होगी. चुनावी रैली का असर कुछ वक्त बाद मामलों को लेकर दिख सकता है. पंजाब में लोकल बॉडी के चुनाव का असर कोरोना मामलो पर नजर सीधे तौर पर आया है. 



Source link

पिछला लेखअनिल देशमुख ने दिया त्यागपत्र, कहा पद पर बने रहना नैतिकता के खिलाफ
अगला लेखभारत में वायरस नहीं है सबसे बड़ा जानलेवा बल्कि इन बीमारियों से होती है सबसे ज्यादा मौत
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।