कोरोनावायरस की वैक्सीन से जुड़ी खबर, अमेरिकी बायोटेक फर्म की रिपोर्ट में मिले बेहतर नतीजों के संकेत

0
2


40 लोगों पर किए गए इसके परीक्षण में से 94 प्रतिशत के इम्यून सिस्टम ने रिस्पॉंस किया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वाशिंगटन:

दुनियाभर में मौत का तांडव मचाने वाले कोरोनावायरस (Coronavirus) की वैक्सीन को लेकर कोई ऐसा देश नहीं है जहां के वैज्ञानिक खोज में नहीं लगे हैं. कई देशों ने इस वायरस को खत्म करने वाली दवा बनाने का दावा भी किया जबकि कई देशों ने कुछ अन्य दवाओं के जरिए इसके असर को कम करने की कोशिश भी की लेकिन दुनिया अभी तक किसी भी देश के वैज्ञानिक इस वायरस को खत्म करने के लिए को कोई भी कारगर दवा नहीं बना सके हैं. रिसर्च के किसी ना किसी चरण में दवा की प्रमाणिकता सवालों के घेरे में आज जाती है. इस बीच मंगलवार को कोरोना की वैक्सीन को लेकर एक अच्छी खबर सामने आई. अमेरिका की बायोटेक फर्म इनोवियो (Inovio) ने प्रायोगिक कोरोनोवायरस वैक्सीन के परीक्षण से प्रारंभिक लेकिन उत्साहजनक परिणाम की सूचना दी.

यह भी पढ़ें

40 लोगों पर किए गए इसके परीक्षण में से 94 प्रतिशत के इम्यून सिस्टम ने रिस्पॉंस किया है. ये वो थे जिनका पहले चरण का क्लिनिल ट्रायल पूरा हो चुका था. मतलब इन्हें चार सप्ताह में  दो इंजेक्शन दिए गए थे.

इनोवियो के इस टीके को INO-4800 कहा जाता है, इसे एक व्यक्ति के डीएनए को इंजेक्ट करने के लिए डिज़ाइन किया गया है ताकि SARS-CoV-2 वायरस के खिलाफ एक विशिष्ट प्रतिरक्षा प्रणाली प्रतिक्रिया (specific immune system response) निर्धारित की जा सके.

दवा को सुई के साथ त्वचा के नीचे इंजेक्ट किया जाता है, फिर एक उपकरण के साथ सक्रिय किया जाता है जो टूथब्रश जैसा दिखता है, ये एक सेकंड के एक अंश के लिए एक विद्युत आवेग बचाता है, जिससे डीएनए को शरीर की कोशिकाओं में प्रवेश करने और अपने मिशन को पूरा करने की अनुमति मिलती है. अमेरिकी रक्षा विभाग और गैर सरकारी संगठन सीईपीआई द्वारा फाइनेंस की जा रही गई इनोवियो ने यह भी कहा कि इसे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा जनवरी से ऑपरेशन ‘वारप स्पीड’ के हिस्से के रूप में वैक्सीन के सैकड़ों लाखों खुराक का उत्पादन करने की योजना में शामिल किया गया है.

इनोवियो के सीईओ जोसेफ किम ने कहा कि इनोवियो की दवा एकमात्र डीएनए वैक्सीन है जो कमरे के तापमान पर एक साल से अधिक समय तक स्थिर रहती है और इसे कई वर्षों तक ट्रांसपोर्टेश और स्टोरेज लिए रेफ्रिजिरेशन की आवश्यकता नहीं होती है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

पिछला लेख82 साल के मनोज कुमार को भा गई बच्चे की देशभक्ति, वीडियो शेयर कर कहा- इसे ऑस्कर मिलना चाहिए
अगला लेखSamsung Galaxy S20 Plus BTS Edition price in India: Samsung Galaxy S20+ BTS Edition भारत में लॉन्च, कल से होगी प्री-बुकिंग – samsung galaxy s20 plus galaxy buds plus bts edition launched in india know price and specifications
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।