कैसे होती है सोने से एलर्जी, जानिए आपकी स्किन को सूट करेगा कौन सा गोल्ड?

0
0


Allergic to Gold : फूलों के पराग, धूल के कण, जानवरों की स्मेल और किसी खास तरह के खाने से कई लोगों को एलर्जी (Allergies) होती है, लेकिन आपकी नाक नथूनों में खुजली करने और छींक आने के केवल यही कारण नहीं हो सकते हैं. स्किन का सोने यानी गोल्ड के संपर्क में आना भी कुछ लोगों को लिए एलर्जी का कारण बन सकता है. हेल्थलाइन की रिपोर्ट के अनुसार, ये स्पष्ट नहीं है कि कितने लोगों को गोल्ड से रिएक्शन होता है. लेकिन 2001 में गोल्ड एलर्जी को लेकर हुई एक स्टडी में 4101 लोगों में से करीब 9.5 प्रतिशत लोग पॉजिटिव निकले थे. जिनमें महिलाओं की संख्या अधिक थी. हालांकि ये बात भी स्पष्ट है कि सोने से एलर्जी असल में सोने की वजह से नहीं, उसमें मिली धातु की वजह से होती है, खासतौर से निकल (Nickel) की वजह से.

सोने से एलर्जी के लक्षणों की अगर बात करें, तो यह अन्य तरह की एलर्जी की तरह ही होते हैं. शरीर एलर्जी के लिए अलग तरह से रिएक्ट करता है, फिर भी प्रतीकात्मक लक्षणों में इन्हें शामिल किया जा सकता है.

– सूजन
– चकत्ता
– स्किन लाल होना
– खुजली
– छाल निकलना
– काले धब्बे
– फफोला होना

लंबे समय बाद भी दिखते हैं एलर्जी के लक्षण
सोने से एलर्जी के लक्षण हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकते हैं. वे सोने के संपर्क में आने के तुरंत बाद या लंबे समय तक संपर्क में रहने के बाद विकसित हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें- देशभर के मरीजों को राहत, अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्‍थान में जल्‍द शुरू होगी ये सुविधा

यदि आप सोने की अंगूठी या रिंग पहनते हैं, तो आपकी उंगली की स्किन का रंग लाल हो सकता है, स्किन का रंग बदल सकता है (discoloration) या खुजली हो सकती है. सोने के झुमके या सोने का हार पहनने के बाद भी आप अपने कान पर या अपने गले में ऐसे लक्षण देख सकते हैं.  यहां गौर करने वाली बात ये है कि सोने से एलर्जी को अन्य एलर्जी से अलग करना मुश्किल हो सकता है, इसलिए आप एक्जिमा या किसी अन्य प्रकार के त्वचा संपर्क की सूजन के लक्षणों को मान सकते हैं कि ये वैसे ही कुछ हैं. सोने से एलर्जी होने पर हर बार जब आप अपनी स्किन को सोने के संपर्क में लाते हैं, तो आपको वही रिएक्शन होने की संभावना होती है.

सोने और मेटल एलर्जी के सोर्स

– गोल्ड सोडियम थियोमालेट (Gold sodium thiomalate): रुमेटाइड गठिया (rheumatoid arthritis) वाले लोगों में दर्द और सूजन को कम करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला एक गोल्ड कंपाउंड है.
– गोल्ड डेंटल क्राउन (Gold dental crown): एक डेंटल कैप या फिक्स्ड प्रोस्थेटिक (prosthetic) जिसका इस्तेमाल टूटे हुए दांत को वापस बहाल करने के लिए किया जाता है.
– सोना युक्त ओरल सप्लीमेंट (Gold-containing oral supplements): इनमें विटामिन और मिनरल्स सप्लीमेंट्स शामिल हो सकते हैं, इसलिए कंटेंट लेबल को अवश्य पढ़ लें.
– गोल्ड प्लेटेड स्टेंट (Gold-plated stents): शरीर में अवरुद्ध मार्गों को खोलने के लिए उपयोग की जाने वाली छोटी नलियां, जैसे ब्लड वेसल्स
– खाने में सोना (Edible gold): चॉकलेट और अन्य मीठे व्यंजनों में या उसके ऊपर दबाए गए या ब्रश किए गए सोने की मात्रा का पता लगाएं.
– टैटू स्याही: यदि आपको निकल से एलर्जी है, तो टैटू से इसकी अधिक संभावना हो सकती है.
– सेलफोन : इनमें निकल हो सकता है.
– प्रसाधन सामग्री (Cosmetics) : इन उत्पादों में निकल और अन्य धातुएं हो सकती हैं.

कितने कैरेट सोने से ज्यादा रिएक्शन के चांस
हालांकि, ध्यान रखें कि सभी सोने के गहनों में निकल का आसानी से पता नहीं चलता है. तो अगर यह वास्तव में निकल है और आप सेंसिटिव हैं, तो रिएक्शन केवल कुछ प्रकार के सोने पहनने पर ही हो सकता है. आमतौर पर, गहनों के एक टुकड़े में जितना अधिक शुद्ध सोना होता है, उसमें उतना ही कम निकल होता है. इसलिए, हो सकता है कि आपको 24 कैरेट सोने (शुद्ध सोना) पर रिएक्शन ना हों. जिसमें 99.9 प्रतिशत सोना होता है. इसमें 0.1 प्रतिशत से भी कम निकल और अन्य धातुएं होती हैं. इसी तरह, 18 कैरेट सोने से भी आपको रिएक्शन होने की संभावना कम हो सकती है, जो कि 75 प्रतिशत सोना है. लेकिन अगर आप केवल 12 कैरेट या 9 कैरेट का सोना पहनते हैं -जिसमें निकल या अन्य धातु की अधिक मात्रा होती है तो आपको रिएक्शन होने की अधिक आशंका हो सकती है.

यह भी पढ़ें- इनफर्टिलिटी के इन संकेतों को न करें नजरअंदाज, तत्काल लें डॉक्टर की सलाह

व्हाइट गोल्ड का स्किन पर असर
आपको व्हाइट गोल्ड से भी रिएक्शन होने के ज्यादा चांस है. पीले सोने में निकल हो सकता है लेकिन आमतौर पर चांदी या तांबे के साथ मिश्रित या संयुक्त होता है. जबकि सफेद सोना ज्यादातर निकल के साथ मिश्रित होता है.

सोने से एलर्जी का इलाज क्या है?
यदि आपको सोने के गहने पहनने के बाद स्किन पर खुजली, सूजन, लालपन और छाले जैसे लक्षण हैं, तो इस रिएक्शन का इलाज करने का सबसे अच्छा तरीका है कॉर्टिकोस्टेरॉइड क्रीम ( topical corticosteroid cream) का उपयोग करना है. खुजली को कम करने के लिए, अपनी त्वचा को नमीयुक्त रखना सुनिश्चित करें और एक ठंडा सेक लगाएं.

गंभीर रिएक्शन होने पर अपने डॉक्टर से संपर्क करें. क्योंकि आपको एलर्जी के खिलाफ एक स्ट्रॉन्ग मेडिसिन की आवश्यकता हो सकती है. भविष्य में होने वाली एलर्जी से बचने के लिए, आप गहनों को पूरी तरह से पहनना बंद कर सकते हैं.

गहनों में क्या देखना है
रिएक्शन को रोकने का सबसे अच्छा तरीका ऐसे गहने पहनना है, जो आपकी स्किन को सूट करते हैं, जिन्हें पहनने से आपको कोई पेरशानी नहीं होती है. आप चाहें तो सोने के गहनों से पूरी तरह परहेज कर सकते हैं, या केवल 18 या 24 कैरेट सोने की ज्वेलरी ही पहन सकते हैं. चूंकि सोने से एलर्जी का मूल कारण भी निकल (Nickel) ही होता है इसलिए शायद आपको अन्य प्रकार के गहनों से भी बचने की आवश्यकता होगी. इसमें कॉस्ट्यूम ज्वेलरी भी शामिल है.

ऐसे में, ऐसे गहनों की तलाश करें जो हाइपोएलर्जेनिक (hypoallergenic) हों, या निकल-मुक्त हों. आप स्टेनलेस स्टील या टाइटेनियम पहनकर भी स्किन रिएक्शन रोक सकते हैं. आप मेटल से बने वॉचबैंड को पहनना भी बंद कर सकते हैं, जो कपड़े, प्लास्टिक और लेदर के बने हों. लेकिन अगर आपकी नौकरी ऐसी है कि आपको सोने की ज्वेलरी पहनना ही है, तो रिएक्शन कम करने के लिए आप दस्ताने पहन सकते हैं.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

पिछला लेखटाटा मोटर्स ने नेपाल में टियागो एनआरजी पेश की, कीमत सुनकर चौंक जाएंगे आप
अगला लेखशरीर को नुकसान भी पहुंचा सकते हैं मल्टीविटामिन्स, लेने से पहले इन बातों का रखें ध्यान
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।