किस उम्र से बच्चों को मसाले खिलाना शुरू करना चाहिए, जानें कौन से हैं सुरक्षित

0
0


Add Spices in kids Food: दूध छुड़ाने के बाद बच्चे ठोस फूड खाना शुरू करते हैं. आपके परिवारजन और दोस्त शिशु के छह महीने का होने पर ही उसके आहार में मसाले डालने की सलाह देते हैं, लेकिन अधिकांश डॉक्टर यही सलाह देते हैं कि शिशु के आठ महीने का होने के बाद ही उसके आहार में मसाले डालना शुरू करना चाहिए. इससे पेट में गड़बड़ी के साथ-साथ एलर्जिक प्रतिक्रियाओं से भी बचाव में मदद मिलती है. ‘मसाले’ का मतलब केवल लाल या काली मिर्च नहीं है, बल्कि इसमें लहसुन, अदरक, हींग, जीरा, सौंफ, धनिया, सरसों, मेथी और हल्दी आदि सभी शामिल होते हैं. ये मसाले शिशु के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक माने जाते हैं.

बबीसेंटर के अनुसार, बच्चों के पेट में दर्द से राहत दिलाने के लिए और पाचन में मदद करने के लिए तैयार की जाने वाली औषधियों में हींग, अदरक, सौंफ, अजवायन और जीरे का इस्तेमाल किया जाता है. एक्सपर्ट की मानें तो लहसुन और हल्दी में एंटीसेप्टिक, एंटि-इन्फ्लेमेटरी जैसे तत्व मौजूद होते हैं, जो बच्चों के लिए काफी फायदेमंद हैं.

हल्दी
दाल और सब्जियों में आप एक चुटकी हल्दी डालकर बच्चों को खिला सकते है. हल्दी के सेवन से उनका पाचन दुरुस्त होगा, इम्यूनिटी मजबूत होगी, एलर्जी से बचाव होगा. यह मसाला शिशु के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी माना जाता है.

यहां भी पढ़ें:  मानसून में बच्चों की इम्यूनिटी को स्‍ट्रॉन्‍ग रखने के लिए उनकी डाइट में शामिल करें ये 8 चीज़ें

मिर्च पाउडर
बच्चों के भोजन में मिर्च पाउडर का इस्तेमाल डेढ़ साल के बाद ही करना चाहिए. उसके बाद भी आपको बहुत कम मात्रा में इसका इस्तेमाल करना चाहिए.

लहसुन और अदरक
बच्चों के लिए कसे हुए चिकन या दाल को पकाते समय लहसुन की एक कली इस्तेमाल कर सकते हैं या अदरक का छोटा सा टुकड़ा कद्दूकस करके डाला जा सकता है. यह गैस्ट्रिक समस्याओं से राहत प्रदान करता है. यह एक रोगाणुरोधी एजेंट के रूप में कार्य करता है. लहसुन आप बच्चे को 8-10 महीने के बाद दे सकते हैं, लेकिन अदरक आपको बच्चों को 2 साल की उम्र के बाद ही खिलानी चाहिए.

यहां भी पढ़ें: बच्चे की हड्डियों को मज़बूत बनाना है, तो उनकी डाइट में शामिल करें ये 5 चीज़ें

जीरा
जीरा का सेवन भी 8 महीने बाद बच्चों के लिए सुरक्षित है.जीरे को अक्सर एक छोटी चम्मच घी में तड़काकर दाल, चावल और सब्जी में डाला जा सकता है.

मेथी के दाने
18 महीने बाद आप बच्चों के आहार में मेथी के दाने शामिल कर सकते हैं. इसका इस्तेमाल इडली-डोसा के बैटर, सब्जी और करी में थोड़ी मात्रा में किया जा सकता है। इससे पाचन को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी.

Tags: Child Care, Food, Parenting, Parenting tips



Source link

पिछला लेखNupur Sharma: राजस्थान में हत्या से पहले कई राज्यों में हिंसा, जानें नुपुर शर्मा के विरोध में कहां क्या हुआ?
अगला लेखअमेरिका में ट्रक में 46 प्रवासियों के शव मिले: 100 लोगों को ठूंस-ठूंसकर भरा था, मेक्सिको से छिपाकर टेक्सास लाया जा रहा था
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।