किन वजहों से होते हैं ‘पिंपल्स’? जानें कैसे इस मुसीबत से पाएं निजात

0
0



<p>मुंहासों की समस्या से ज्यादातर युवा पीड़ित होते हैं. इनसे छुटकारा पाने के लिए क्या कुछ नहीं किया जाता, लेकिन फिर भी ये ढीट की तरह कई बार बने रहते हैं. एक रिसर्च में पता चला है कि ब्रिटेन के 11.5 प्रतिशत एडल्ट मुंहासों की समस्या से जूझ रहे हैं. क्लिक2फार्मेसी द्वारा किए गए एक शोध के मुताबिक, एक तिहाई से ज्यादा लोगों को अपनी लाइफ में कभी न कभी पिंपल्स यानी मुंहासे का सामना करना पड़ा है. इसी रिसर्च में यह भी पाया गया कि 2022 जनवरी तक के 12 महीनों के दौरान NHS इंग्लैंड ने मुहांसों के इलाज पर 22.7 मिलियन पाउंड (2.28 अरब भारतीय रुपया) खर्च किया.</p>
<p>एस्थेटिक डॉक्टर डेविड जैक कहते हैं कि मुंहासे वयस्कता में देखी जाने वाली सबसे कॉमन स्किन प्रॉब्लम है. उन्होंने स्किन में सूजन की स्थिति के बारे में बताते हुए कहा कि अक्सर इसकी वजह साफ नहीं होती है, लेकिन कुछ लोगों में ऐसे वजहों की पहचान की जा सकती है, जिनकी वजह से मुंहासे की स्थिति ज्यादा बिगड़ जाती है. उनका कहना है कि मुंहासे ब्लॉक ग्लैंड्स में पी. एक्ने या सी. एक्ने नाम के बैक्टीरिया के स्किन कोलोनिसेशन से जुड़े हैं, जो सूजन, ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स का कारण बनता है.&nbsp;</p>
<p><strong>डेयरी प्रोडक्ट का इस्तेमाल खतरनाक</strong></p>
<p>महिलाओं में पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS), स्मोकिंग, तनाव, पारिवारिक इतिहास और स्किनकेयर प्रोडक्ट मुंहासे की समस्या पैदा करने वाले कारक बनते हैं. डॉ डेविड बताते हैं कि आंत के स्वास्थ्य और सूजन और मुंहासे के बीच संबंधों की वजह से भी यह समस्या पैदा हो सकती है. इसके अलावा, अगर आप डेयरी प्रोडक्ट का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं तो भी मुंहासे आपको परेशान कर सकते हैं. वे कहते हैं कि एंटीऑक्सीडेंट-रिच फूड में चमकीले रंग के फल और सब्जियां, दालें, हरी पत्तियां और कुछ हेल्दी चाय शामिल हैं. ये त्वचा के सूजन को कम करने में मदद कर सकती हैं और मुंहासे के खतरे को कम कर सकती हैं.&nbsp;</p>
<p>डेविड जैक कहते हैं कि मैं आमतौर पर लोगों को चीनी और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों से बचने की सलाह देता हूं. इसके अलावा, वे उन खाद्य पदार्थों को भी अवॉइड करने की सलाह देते हैं, जिन्हें फ्राई और ग्रिल किया जाता है. क्योंकि इनमें रिएक्टिव मॉलिक्यूल और एडवांस्ड ग्लाइकेशन एंड प्रोडक्ट्स (AGEs) हाई होते हैं. इसलिए स्टीमिंग जैसी खाना पकाने की टेक्निक ज्यादा बेहतर मानी जाती है.</p>
<p><strong>ज्यादा तनाव भी एक कारण</strong></p>
<p>मुंहासों की समस्या के लिए कई बार ज्यादा तनाव भी जिम्मेदार होता है. वयस्क के मुंहासों का संबंध तनाव के स्तर में बढ़तरी से जुड़ा हुआ है. इसलिए एडाप्टोजेंस और नॉट्रोपिक्स जैसे सप्लीमेंट्री स्ट्रेस के लेवल को बैलेंस करने में मदद कर सकते हैं. इन सप्लीमेंट्स को अच्छे हेल्थकेयर स्टोर्स से हासिल किया जा सकता है. इसमें अश्वगंधा और जिनसेंग जैसे- एडाप्टोजेन्स शामिल हो सकते हैं, जो शरीर को स्ट्रेस और ट्रेंशन फ्री रखेंगे.</p>
<p>इसके अलावा आप अपने स्कीन रूटीन को भी मैनेज कर सकते हैं. कुछ प्रोडक्ट और इंग्रेडिएंट्स ज्यादा अच्छा रिजल्ट देते हैं और मुंहासे को कम करने में मदद करते हैं. डॉ डेविड एक ऐसे क्लीन्जर की तलाश करने की सलाह दी है, जिसमें बेंजोयल पेरोक्साइड हो. &nbsp;</p>
<p><strong>ये भी पढ़ें: </strong><a href="https://www.abplive.com/lifestyle/parakram-diwas-2023-inspiring-quotes-to-remember-on-netaji-subhas-chandra-bose-126th-birth-anniversary-2315224"><strong>’तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा’, नेताजी की जयंती पर पढ़ें उनके 10 आइकॉनिक कोट्स</strong></a></p>



Source link

पिछला लेखसरफराज के भाई मुशीर की तूफानी बैटिंग, तिहरा शतक जड़कर मचाया कोहराम
अगला लेखअरे वाह! Activa में कार जैसे फीचर्स, बिना चाबी के स्टार्ट होगा, इशारों से चलेगा, कीमत सिर्फ 74 हजार रुपये
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।