कितनी शराब पीने वाले व्यक्ति को माना जाता है हैवी ड्रिंकर? कहीं आप तो नहीं कर रहे ऐसा, यहां कर लें चेक

0
0


हाइलाइट्स

शराब में अल्कोहल की काफी मात्रा होती है, जिससे शरीर को नुकसान होता है.
अत्यधिक मात्रा में शराब पीने से हमारे ब्रेन में कई खतरनाक बदलाव आ सकते हैं.

How Much Alcohol Is Safe: आज के जमाने में शराब (Liquor) पीना शौक बन गया है. बड़ी संख्या में युवा बार (Bar) में बैठकर जाम छलकाते हुए देखे जा सकते हैं. मौका अगर खुशियों का हो, तो फिर शराब पीने वालों की तादाद और भी ज्यादा बढ़ जाती है. इस साल न्यू ईयर का जश्न लोगों पर ऐसा चढ़ा कि दिल्ली में शराब की एक करोड़ से ज्यादा बोतलें बिक गईं. कुछ लोग शराब कम मात्रा में पीते हैं, तो कुछ लोग मन भरने तक ड्रिंक पर ड्रिंक बनाते रहते हैं. क्या आप जानते हैं कि कितनी शराब पीने वाले लोगों को हैवी ड्रिंकर (Heavy Drinker) माना जाता है? आज हम आपको हैवी ड्रिंकिंग और इससे होने वाले बड़े नुकसान के बारे में बताएंगे.

ऐसे लोगों को माना जाता है हैवी ड्रिंकर

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन (CDC) के मुताबिक जो पुरुष एक सप्ताह में 15 ड्रिंक्स या इससे ज्यादा शराब पीते हैं, उन्हें हैवी ड्रिंकर माना जा सकता है. महिलाओं की बात की जाए तो उनके लिए यह पैमाना थोड़ा अलग है. एक सप्ताह में 8 या इससे ज्यादा ड्रिंक्स लेने वाली महिलाओं को हैवी ड्रिंकर माना जा सकता है. आसान भाषा में कहें तो हर दिन 1 या 2 ड्रिंक्स से ज्यादा शराब पीने को हैवी ड्रिंकिंग कहा जा सकता है. आमतौर पर एक ड्रिंक में करीब 30ml शराब होती है. बीयर में करीब 5% अल्कोहल और शराब में 12% अल्कोहल होता है. अलग-अलग ब्रांड में यह मात्रा कम या ज्यादा हो सकती है.

कितनी मात्रा में शराब पीना सेफ?

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) की रिपोर्ट के मुताबिक किसी भी मात्रा में शराब पीना स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद नहीं है. शराब की पहली बूंद से ही आपकी हेल्थ को गंभीर खतरे पैदा होने की शुरुआत हो जाती है. शराब पीने से ब्रेस्ट कैंसर, बॉवल कैंसर समेत 7 तरह के कैंसर का खतरा बढ़ जाता है. शराब में अल्कोहल होता है, जो हेल्थ के लिए काफी टॉक्सिक माना जाता है. शराब में मौजूद तत्व शरीर में जाकर उठ जाते हैं और जहरीला असर हमारे कई अंगों पर डालते हैं. इससे फिजिकल और मेंटल हेल्थ बुरी तरह प्रभावित होती है. कई रिसर्च में यह बात साबित हो चुकी है कि शराब का लंबे समय तक सेवन करने से हमारे दिमाग की केमिस्ट्री बदल जाती है और उसका साइज भी छोटा हो जाता है.

यह भी पढ़ें- बालों के लिए रामबाण ‘दवा’ साबित हो सकता है आलू, इस तरह करें इस्तेमाल

Tags: Alcohol, Cancer, Health, Lifestyle



Source link

पिछला लेखरतन टाटा ने मनाया अपनी सबसे प्यारी कार का बर्थ-डे, कभी बच्चे-बच्चे की जुबान पर हुआ करता था इस गाड़ी नाम
अगला लेखDiabetes-Heart disease: सर्दियों में डायबिटीज और दिल की बीमारियों के कैसे बचें? भरतपुर की एक्सपर्ट से जानिए
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।