कानपुर में बहू से गुस्सा होने के बाद ससुर ने मचाया तांडव, पुलिसकर्मियों पर झोंके 45 फायर

0
0


Image Source : INDIA TV
Kanpur News 

Highlights

  • श्यामनगर के सी-ब्लॉक में रहने वाले 60 साल के आरके दुबे ने मचाया उत्पात
  • रविवार दोपहर 12 बजे आरके दुबे का अपनी बहू भावना से विवाद हुआ
  • बहू ने पुलिस बुलाई तो आरके दुबे ने आपा खोया, पुलिसकर्मियों पर 3 घंटे तक की ताबड़तोड़ फायरिंग

UP: यूपी के कानपुर से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक ससुर ने अपनी बहू से गुस्सा होने के बाद जो तांडव मचाया है, उससे पूरे शहर में हड़कंप मच गया है। कानपुर में बहू से विवाद के बाद ससुर ने 3 घंटे तक अफरा-तफरी का माहौल क्रिएट कर दिया और छत पर चढ़कर अपनी लाइसेंसी डबल बैरल बंदूक से पुलिस पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। इस फायरिंग में एक दरोगा और 2 सिपाहियों के घायल होने की खबर मिली है। फायरिंग करने वाले शख्स की पहचान श्यामनगर के सी-ब्लॉक के रहने वाले आरके दुबे (60) के रूप में हुई है। वह  शेयर मार्केट का काम करता है।

बहू से विवाद के बाद शुरू हुआ उत्पात

60 साल का आरके दुबे श्यामनगर के सी-ब्लॉक में अपनी पत्नी किरन दुबे, बड़े बेटे सिद्धार्थ, बहू भावना और दिव्यांग बेटी चांदनी के साथ रहता है। उसका छोटा बेटा राहुल और बहू जयश्री घर से अलग रहते हैं। रविवार दोपहर 12 बजे आरके दुबे का अपनी बहू भावना से विवाद हो गया, जिसके बाद आरके दुबे अपना मानसिक संतुलन खो बैठा और सभी को एक कमरे में बंद करके चिल्लाने लगा कि पूरे घर में आग लगा देगा। आरके दुबे की धमकी से घबराई बहू ने कमरे में बंद रहने के दौरान ही पुलिस को फोन किया और कहा कि अगर उसे बचाया नहीं गया तो उसका ससुर उसे मार देगा। 

आरके दुबे ने पुलिस को देखते ही ताबड़तोड़ फायरिंग की

चकेरी पुलिस जब आरके दुबे के घर पहुंची तो उसे देखकर वह आपा खो बैठा और अपनी डबल बैरल बंदूक से फायरिंग शुरू कर दी। अचानक हुई फायरिंग से इलाके में हड़कंप मच गया और पुलिसकर्मी भी जान बचाने के लिए इधर-उधर छिप गए। मौके पर डीसीपी ईस्ट प्रमोद कुमार, एसीपी मृगांक शेखर पाठक और एडीसीपी राहुल फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे लेकिन आरके दुबे नहीं रुका और जो पुलिसकर्मी सामने दिखा, उस पर फायर करता रहा। 

आरके दुबे ने 40 से 45 राउंड फायरिंग की, मांगा दरोगा का सस्पेंशन लेटर 

दुबे ने पुलिस पर करीब 3 घंटे में 40 से 45 राउंड फायरिंग की। बुजुर्ग बार-बार ये कह रहा था कि जब तक दरोगा को सस्पेंड नहीं किया जाएगा, तब तक वह नहीं रुकेगा। जब डीसीपी ने बुजुर्ग को दिखाने के लिए टाइप किया हुआ सस्पेंशन लेटर उसके व्हाट्सएप पर भेजा, तब बुजुर्ग ने फायरिंग बंद की। इसके बाद पुलिस टीम ने उसे पकड़ लिया। 

 





Source link

पिछला लेखOla आखिर क्यों है हाइड्रोजन कारों के खिलाफ? कंपनी के CEO ने बताई वजह
अगला लेखदिल्ली से जबलपुर जा रहे SpiceJet के विमान की इमरजेंसी लैंडिंग, पटना के बाद दिन की दूसरी घटना
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।