कांगो के चर्च में धमाका, अब तक 17 की मौत: 20 गंभीर रूप से घायल, ISIS ने धमाके की जिम्मेदारी ली

0
0


कांगो11 घंटे पहले

धमाके के बाद की यह वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही है।

डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो (DRC) के एक चर्च में 15 जनवरी को धमाका हुआ। इसमें अब तक 17 लोगों की मौत की पुष्टि हो गई है। 20 लोग गंभीर रूप से घायल हैं। अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक, ISIS ने इस धमाके की जिम्मेदारी ली है। सरकार के प्रवक्ता पैट्रिक मुयाया ने इस ब्लास्ट के पीछे ISIS के सहयोगी संगठन एलाइड डेमोक्रेटिक फोर्स (ADF) का हाथ होने की आशंका जताई थी।

धमाके के बाद का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। यह स्क्रीनशॉट उसी वीडियो से लिया गया है जिसमें चर्च में मची अफरा-तफरी देखी जा सकती है।

चर्च में दिखा तबाही का मंजर
कासिंदी टाउन के एक चर्च में लोग प्रार्थना के लिए इकट्ठे हुए थे। इसी दौरान धमाका हुआ। प्रत्यक्षदर्शी जूलियस कसाके ने बताया- मैं चर्च के बाहर से गुजर रहा था। तभी धमाका हुआ। मैं और आसपास के कई लोग मदद करने के लिए चर्च के अंदर भागे। वहां हर तरफ तबाही का मंजर दिखाई दे रहा था। कई लोग बेसुध पड़े थे तो कई दर्द से चीख रहे थे। कई लोगों के हाथ-पैर टूटकर अलग हो गए थे।

25 साल की मसिका मकासी ने बताया- मैं चर्च के बाहर एक टेंट में बैठी हुई थीं। तभी मैंने धमाके की आवाज सुनी। पल भर में ही सब कुछ बदल गया। कुछ फीट की दूरी पर बैठी मेरी भाभी की मौत हो गई और मेरी टांग में भी चोट लग गई।

धमाके के बाद सेना मौके पर पहुंची और स्थिति को संभाला।

धमाके के बाद सेना मौके पर पहुंची और स्थिति को संभाला।

राष्ट्रपति बोले- दोषियों को सजा देंगे
डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो के राष्ट्रपति फेलिक्स एंटोनी ने कहा है कि इस जघन्य अपराध के दोषियों को पकड़कर सजा दी जाएगी। फेलिक्स 2018 से कांगो के राष्ट्रपति हैं।

UN की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2022 में कांगो में 370 से ज्यादा लोगों ने ADF के हमलों में जान गंवाई है। साथ ही सैकड़ों लोग किडनैप भी हुए हैं।

फेलिक्स एंटोनी 2018 से कांगो के राष्ट्रपति हैं और आतंकवादी संगठनों से निपटने की कोशिश कर रहे हैं

फेलिक्स एंटोनी 2018 से कांगो के राष्ट्रपति हैं और आतंकवादी संगठनों से निपटने की कोशिश कर रहे हैं

5 सबसे गरीब देशों में शामिल है कांगो
अफ्रीका महाद्वीप के इस देश में कॉपर और कोबाल्ट जैसे खनिज बड़ी मात्रा में हैं। लेकिन इसका फायदा वहां के लोगों को नहीं मिल सका है। लंबे समय से चल रहे संघर्ष और राजनीतिक अस्थिरता की वजह से यह देश संकट में ही रहा है। बड़ी संख्या में लोगों को पलायन करना पड़ा है। कांगो दुनिया के पांच सबसे गरीब देशों में शामिल है। यहां के 64 फीसदी लोग 1 दिन में 200 रुपए भी नहीं कमा पाते हैं।

ये खबरें भी पढ़ें…

ISIS-K ने ली काबुल सुसाइड अटैक की जिम्मेदारी:अस्पताल के किचन-कैंटीन में हुआ घायलों का इलाज; 20 की मौत

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में 11 जनवरी को सुसाइड बॉम्ब अटैक हुआ था। इसकी जिम्मेदारी ISIS-K ने थी और 20 लोगों के मारे जाने का दावा किया था। धमाके में 40 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। घायलों का इलाज करने के लिए अस्पताल के किचन और कैंटीन में भी बेड लगाने पड़े थे। पूरी खबर पढ़ें…

सोमालिया एजुकेशन मिनिस्ट्री के बाहर ब्लास्ट:2 कारों में धमाके हुए, 100 लोगों की मौत; 300 से ज्यादा घायल

सोमालिया की राजधानी मोगादिशू में बीते साल 29 अक्टूबर को एजुकेशन मिनिस्ट्री के बाहर धमाका हुआ था। धमाके में अब तक 100 लोगों की मौत हो गई थी। 300 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। पढ़ें पूरी खबर…

सोमालिया में राष्ट्रपति भवन के पास आतंकी हमला:4 लोगों की मौत; एक दिन पहले सेना ने 100 आतंकी मारे थे

सोमालिया की राजधानी मोगादिशु में बीते साल नवंबर में एक होटल में आतंकियों ने हमला कर दिया था। इस हमले में चार लोगों की मौत हो गई थी। इसकी जिम्मेदारी आतंकी संगठन अल-शबाब ने ली थी। हमले में पर्यावरण मंत्री हिरसी बाल-बाल बचे। पढ़ें पूरी खबर…

खबरें और भी हैं…



Source link

पिछला लेखबिना परीक्षा होगा चयन, मिलेगी अच्छी सैलरी, जानें इन भर्तियों का डिटेल
अगला लेखपाकिस्तान में 18 दिन से आटे की किल्लत: बाइक-स्कूटर से आटे के ट्रकों के पीछे पैसे लेकर दौड़ रहे लोग
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।