कबीर दास जयंती पर दोस्तों और रिश्तेदारों को भेजें ये प्रेरणादायक संदेश

0
4


Happy Kabir Jayanti 2022 Wishes: ज्येष्ठ माह की पूर्णिमा तिथि यानी 14 जून 2022 को संत कबीर दास जी जयंती मनाई जाएगी.कबीर दास जी के जन्म के विषय में कई मतभेद मिलते हैं.कबीरदास जी ने अपने दोहों से लोगों के मन में पैदा हुई भ्रांतियों को दूर किया और धर्म का चोला ओढ़ लोगों में द्वेष पैदा करने वालों पर प्रहार किया था. कहा जाता है कि कबीर जी को मानने वाले लोग हर धर्म से थे. कबीर दास जी के कई दोहे हमें सफलता के करीब पहुंचाने का काम करते हैं.उनकी जयंती पर आप अपने दोस्तों और प्रियजनों को ये शुभकामना संदेश भेज सकते हैं.

धीरे-धीरे रे मना, धीरे सब कुछ होय,

माली सींचे सौ घड़ा, ऋतू आए फल होए

साधू भूखा भाव का, धन का भूखा नाहिं,

धन का भूखा जो फिरै, सो तो साधू नाहिं


माला फेरत जुग भया, फिरा न मन का फेर,

कर का मनका डार दे, मन का मनका फेर।


कुटिल वचन सबतें बुरा, जारि करै सब छार,

साधू वचन जल रूप है, बरसै अमृत धार।


जिन खोजा तिन पाइया, गहरे पानी पैठ,

मैं बपुरा बूडन डरा, रहा किनारे बैठ।


माटी कहे कुम्हार से, तू क्या रौंदे मोय,

एक दिन ऐसा आएगा, मैं रौंदूंगी तोय।


अति का भला न बोलना, अति की भली न चूप,

अति का भला न बरसना, अति की भली न धूप।


बंदे तू कर बंदगी, तो पावै दीदार,

औसर मानुष जन्म का, बहुरि न बारम्बार।


मन मक्का दिल द्वारिका, काया कशी जान,

दस द्वारे का देहरा, तामें ज्योति पिछान।


चाह मिटी, चिंता मिटी, मनवा बेपरवाह,

जिसको कुछ नहीं चाहिए वह शहंशाह।


Kabirdas Jayanti 2022: सफलता के करीब पहुंचा देते हैं कबीर के ये दोहे

Chanakya Niti: अगर जवानी में अपना ली ये 5 आदतें, तो बुढ़ापे में रहेंगे हमेशा सुखी



Source link

पिछला लेखसरकारी नौकरी: नॉर्थ ईस्ट स्मॉल फाइनेंस बैंक ने 625 पदों पर निकाली भर्ती, कैंडिडेट्स के लिए 14 जून है आवेदन की आखिरी तारीख
अगला लेखRBSE 10th Result 2022 Declared: लड़कियां एक बार फिर रहीं आगे, ऐसा रहा 2022 के 10वीं का रिजल्ट
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।