ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन बोले- डब्ल्यूटीसी फाइनल में जगह नहीं बना पाना ‘कड़वा घूंट पीने की तरह’ था

0
1


सिडनी
ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान टिम पेन ने कहा है कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल में जगह नहीं बना पाना ‘कड़वा घूंट पीने की तरह’ था। पेन ने साथ ही कहा कि धीमी ओवर गति के लिए अंकों का जुर्माना लगाते हुए मैच रैफरियों को अधिक निरंतरता दिखानी होगी।

पिछले महीने साउथम्पटन में भारत को आठ विकेट से हराकर न्यूजीलैंड विश्व टेस्ट चैंपियन बना। ऑस्ट्रेलिया डब्ल्यूटीसी फाइनल में जगह बनाने की दौड़ में आगे चल रहा था लेकिन भारत के खिलाफ बॉक्सिंग डे टेस्ट के दौरान धीमी ओवर गति के लिए उस पर चार अंक का जुर्माना लगाया गया। यह सीरीज पेन की टीम के पास डब्ल्यूटीसी अंक हासिल करने का आखिरी मौका था क्योंकि दक्षिण अफ्रीका का दौरा रद्द हो गया।

CSK के महाराजा हैं धोनी, रीटेन नहीं किया तो टीम के कोच बन जाएंगे: ब्रैड हॉग
भारत को इसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज खेलनी थी और विराट कोहली और उनकी टीम ने पर्याप्त अंक जुटाकर न्यूजीलैंड के साथ फाइनल में जगह बनाई।

पेन ने संवाददाताओं से कहा, ‘बेहद निराश हूं कि ओवर गति के कारण हम उसमे (डब्ल्यूटीसी फाइनल) जगह नहीं बना पाए। मुझे लगता है कि दुर्भाग्य से हम ऐसी टीम थे जिसे ओवर गति के जुर्माने का नुकसान उठाना पड़ा।’

पेन ने मांग की कि अंकों का जुर्माना लगाते हुए मैच रैफरी को अधिक निरंतरता दिखानी होगी। उन्होंने कहा, ‘पिछले दो साल में काफी टेस्ट मैच रहे जिसमें टीमें निर्धारित समय में पूरे ओवर नहीं फेंक सकीं और मैं सुनिश्चित नहीं हूं कि कितनी टीमों ने इसके कारण अंक गंवाए। मुझे लगता है कि इसे लेकर (अंकों का जुर्माना) अधिक निरंतरता होनी चाहिए, यह ध्यान में रखते हुए कि पुरस्कार बहुत बड़ा है और कुछ ओवरों के कारण आप चार अंक गंवा सकते हो।’
लव या अरेंज मैरिज? जानिए ‘नेशनल क्रश’ टीम इंडिया की सलामी बल्लेबाज का जवाब
विकेटकीपर बल्लेबाज पेन ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया एकमात्र टीम थी जिसके ओवर गति के अपराध के लिए अंक काटे गए। बकौल पेन, ‘हमने निर्धारित समय में ओवर नहीं फेंके। मैं सिर्फ इतना चाहता हूं कि निरंतरता हो। मैं (टेस्ट क्रिकेट में) काफी ऐसे दिन नहीं खेला जिस दिन पूरे ओवर फेंके गए हो और मेरी जानकारी के अनुसार कोई और टीम नहीं थी जिसके अंक काटे गए। हां, यह कड़वा घूंट पीने की तरह है कि आप एकमात्र टीम हो जिसके अंक काटे गए।’

पेन ने कहा कि उनके लिए भारत और न्यूजीलैंड के बीच खिताबी मुकाबला देखना मुश्किल था। उन्होंने कहा, ‘मैंने मैच में काफी खेल नहीं था। मैंने अंतिम दिन का खेल देखा। मैंने पहले दिन का खेल देखने को लेकर रोमांचित था लेकिन फिर मैंने नहीं देखा। मैंने अंतिम दिन का खेल देखा और यह काफी रोमांचक था, शानदार क्रिकेट।’



Source link

पिछला लेखघर पर बनाएं क्रिस्पी आलू नगेट्स, जानिए रेसिपी
अगला लेखसरकारी नौकरी: राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड ने ट्रेड अप्रेंटिस के 319 पदों पर निकाली भर्ती, 17 जुलाई तक करें अप्लाई
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।