एक दिन में 4000 मौतें, 80 हजार केस: विशेषज्ञ बोले- ब्राजील अनियंत्रित परमाणु रिएक्टर की तरह, फिर भी पीएम ने कहा- लॉकडाउन नहीं लगेगा, यह वायरस से घातक

0
0


  • Hindi News
  • International
  • Expert Said Brazil Like Uncontrolled Nuclear Reactor, Yet PM Said Lockdown Will Not Take, It Is Fatal With Virus

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

ब्राजील में ज्यादातर अस्पताल पहले ही भरे हुए हैं और अब नए बनाए अस्थाई अस्पतालों में भी जगह नहीं बची है, इससे इलाज के अभाव में लोगों की मौत हो रही है।

  • यहां कोरोना मरीज इलाज के इंतजार में मर रहे, कुल मौतें 3.37 लाख पार

ब्राजील में बुधवार को पिछले 24 घंटे में कोरोना से 4000 से ज्यादा लोगों की मौत दर्ज हुई है। यह ब्राजील में अब तक एक दिन में मौतों का सबसे बड़ा आंकड़ा हैं। इससे पहले सिर्फ अमेरिका और पेरू ने एक दिन में इतनी मौतें देखी हैं। यहां कुल मौतें भी 3.37 लाख पार गई हैं, जो अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा है। साथ ही, रोजाना 80 हजार से ज्यादा नए मरीज मिल रहे हैं। अस्पताल भर गए हैं और इलाज के इंतजार में कोरोना मरीज मर रहे हैं।

ड्यूक यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर और ब्राजीलियन डॉक्टर मिगुएल निकोलेलिस कहते हैं- ब्राजील एक परमाणु रिएक्टर की तरह हो गया है, जहां चेन रिएक्शन हो रहा है। यह अनियंत्रित हो गया है और देश बायोलॉजिकल फुकुशिमा बन गया है। इस भयावह स्थिति के बावजूद देश के प्रधानमंत्री बोलसोनारो किसी तरह के लॉकडाउन का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन से अर्थव्यस्था को जो नुकसान होगा वह वायरस से हो रहे नुकसान से कहीं ज्यादा होगा।

बल्कि कई शहरों में स्थानीय प्रशासन की तरफ से लगाए गए कुछ प्रतिबंधों को वे कोर्ट के माध्यम से हटाने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि देश-दुनिया के विशेषज्ञ वोलसोनारो की लगातार आलोचना कर रहे हैं। डॉ. निकोलेलिस कहते हैं, ‘यह ब्राजील के मानवीय इतिहास की सबसे बड़ी त्रासदी है। ताजे अनुमान के मुताबिक संक्रमण दर यही रही तो 1 जुलाई तक हम 5 लाख मौतें पार कर जाएंगे।’

यूरोप: प्रतिबंधों और पुरानी गलतियां सुधारने से नए मरीज मिलने आधे से भी कम हुए
यूरोप के शीर्ष संक्रमित बड़े देशों में रोजाना नए मरीजों की संख्या में काफी गिरावट आई है। फ्रांस, इटली, जर्मनी, स्पेन,पोलैंड सहित ब्रिटेन में पिछले एक हफ्ते में रोजाना नए मरीजों की संख्या आधे से भी ज्यादा कम हो गई है। फ्रांस में 6 अप्रैल को 8054 केस मिले जबकि फ्रांस में 50 हजार के आस पास केस मिल रहे थे। 90 फीसदी से ज्यादा आईसीयू बेड फुल हो गए थे। लिहाजा पिछले हफ्ते वहां चार हफ्ते का नेशनल लॉकडाउन लगा दिया गया।

अब तीन दिन से नए केसों में पांच गुना से ज्यादा की कमी दिख रही है। ब्रिटेन में तेज वैक्सीनेशन और कड़े प्रतिबंधों के जरिए रोजाना नए केस लगभग 2 हजार के आस-पास आ गए हैं। यूरोप के ज्यादातर देशों ने क्रिसमस पर ज्यादातर प्रतिबंध हटा लिए थे, लिहाजा महामारी की नई लहर आई। इस गलती सीख लेते हुए ईस्टर पर हर तरह के जुटान पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। फ्रांस, इटली, जर्मनी, पोलैंड, स्पेन और ब्रिटेन सहित ज्यादातर देशों ने लॉकडाउन लगाया। लिहाजा स्थिति अब नियंत्रण में आती दिख रही है।

ब्रिटेन: जॉनसन अगले हफ्ते से अनलॉक का नया फेज शुरू करेंगे
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अगले हफ्ते से अनलॉक का दूसरा फेज शुरू करने का ऐलान किया। सरकारी डेटा के मुताबिक, देश ने लॉकडाउन की पाबंदियां आसान करने के लिए सभी 4 टेस्ट पूरे कर लिए हैं। सोमवार से दुकानें और पब भी खुल सकते हैं। रोजाना नए मरीजों की संख्या कम होकर 2 हजार पर आ गई है।

अमेरिका: अपनी 33 फीसदी आबादी को वैक्सीन का पहला डोज लगाया
अमेरिका ने अपनी 33% आबादी को वैक्सीन का पहला डोज लगा दिया है। पुरानी गलतियों को सुधारते हुए यूरोप के बड़े देशों ने भी वैक्सीनेशन की रफ्तार तेज की है। फ्रांस ने 15%, इटली ने 13%. जर्मनी ने 13%, स्पेन ने 14% आबादी को पहला डोज दे दिया है। वहीं, इजरायल 57 फीसदी आबादी को टीका लगा चुका है।

दुनिया: 1 अप्रैल से घट रहे थे नए मरीज, फिर 6 लाख पार हुए
दुनिया भर में नए मरीज 1 अप्रैल के बाद से घट रहे थे। लेकिन बुधवार को फिर इसमें बढ़ोतरी दर्ज हुई। 6 अप्रैल को दुनियाभर में 6 लाख से ज्यादा नए मरीज मिले। हालांकि इसमें अकेले 1 लाख से अधिक योगदान भारत का है। दुनिया में अब तक 13.30 करोड़ से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। 28.86 लाख की मौत हो चुकी है।

खबरें और भी हैं…



Source link

पिछला लेखभारतीयों की एंट्री बैन: 11 से 28 अप्रैल तक न्यूजीलैंड में नहीं जा सकते भारतीय नागरिक, सिंगापुर ने 8 हजार वीजा पर लगाई रोक
अगला लेखचीन, जापान के पर्यटक 98 फीसदी घटे: कोरोना से बचने पहली पसंद बना मालदीव, भारतीय पर्यटक 50% बढ़े; सस्ती उड़ानें, आसान नियम ने बढ़ाया आकर्षण
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।