ईरान ने पूर्व उप रक्षा मंत्री को फांसी दी: ब्रिटिश नागरिकता लेने के बाद धोखे से बुलाकर कैद किया, सुनक बोले- यह कायराना हरकत

0
0


तेहरान37 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अलीरेजा अकबरी को ईरान की जासूसी के आरोप में फांसी दे दी गई है।

ईरान में प्रदर्शनकारियों और सरकार का विरोध करने वाले लोगों को सजा ए मौत देने का सिलसिला जारी है। इस बीच ईरान ने एक ब्रिटिश नागरिक और अपने ही पूर्व उप रक्षा मंत्री अलीरेजा अकबरी को जासूसी का गुनहगार बताकर फांसी की सजा दी है।

अलीरेजा अकबरी के पास ईरान और ब्रिटेन की दोहरी नागरिकता थी। जिसके कारण ऋषि सुनक ने अलीरेजा को दी गई फांसी पर रोष जताया है। उन्होंने कहा कि ईरान ने निर्दयी और कायराना हरकत की है। इससे पता चलता है कि ईरान की सत्ता में बैठे नेता अपने ही लोगों के मानवाधिकारों की इज्जत नहीं करते हैं।

यह तस्वीर अलीरेजा अकबरी की है, इसमें वो ईरान के दूसरे अधिकारियों के साथ देखे जा सकते हैं।

यह तस्वीर अलीरेजा अकबरी की है, इसमें वो ईरान के दूसरे अधिकारियों के साथ देखे जा सकते हैं।

बातचीत के बहाने ईरान बुलाकर कैद किया
फांसी की सजा से पहले BBC को अलीरेजा अकबरी का एक ऑडियो मिला था। इस ऑडियो में वो बता रहे हैं कि कुछ साल से वो ब्रिटेन में रह रहे थे। 2019 में उन्हें एक ईरान के डिप्लोमेट ने बातचीत के लिए बुलाया था। जब अलीरेजा वहां पहुंचे तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। अलीरेजा अपनी मौत से पहले बताया था कि उन्हें 3500 घंटों से इंटेलिजेंस एजेंट टॉर्चर कर रहे थे।

ऑडियो में अलीरेजा ने कह रहे थे कि ईरान 10 कैमरे लगाकर हॉलीवुड स्टाइल में उनसे गुनाह कबूल करवा रहा है। अलीरेजा ने कहा था- टॉर्चर कर और साइकोलॉजिकल तरीकों से ये लोग मेरी हिम्मत तोड़ रहे हैं। ये मुझे पागल कर रहे हैं और वो सब बुलवा रहे हैं जो ये सुनना चाहते हैं।

यह तस्वीर ईरान में ट्रायल के दौरान अलीरेजा अकबरी की है।

यह तस्वीर ईरान में ट्रायल के दौरान अलीरेजा अकबरी की है।

अलीरेजा ने सीक्रेट इंटेलिजेंस सर्विस M16 को दी जानकारी
ईरान की इंटेलिजेंस मिनिस्ट्री ने अलीरेजा अकबरी का देश के सबसे बड़े घुसपैठियों में से एक बताया है। उन पर आरोप लगाया है कि वो ब्रिटेन की सीक्रेट इंटेलिजेंस सर्विस M16 को खुफिया जानकारी दे रहे थे। इंटेलिजेंस मिनिस्ट्री ने बताया कि उनके एजेंट्स ने झूठी जानकारी देने के लालच में अलीरेजा को फंसाया और फिर पकड़ लिया।

खबरें और भी हैं…



Source link

पिछला लेखनितिन गडकरी के नागपुर ऑफिस में आया धमकी भरा फोन, जांच में जुटी पुलिस 
अगला लेखकंझावला मामला : नशे में धुत थे कार सवार चारों आरोपी, खून जांच में खुलासा
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।