इस मौसम में खानपान से फैल रहीं ये गंभीर बीमारियां, डॉक्‍टरों ने दी सलाह

0
1


नई दिल्‍ली. मानसून का यह मौसम वैसे तो सभी को अच्‍छा लगता है. इस मौसस में न तो सर्दी होती है और न ही बहुत तीखी गर्मी. साथ ही यह व्रत और त्‍यौहारों (Festivals) का भी मौसम होता है क्‍योंकि सावन आने के बाद से त्‍यौहार शुरू हो जाते हैं और नवंबर तक चलते हैं. हालांकि यह मौसम बीमारियों के लिहाज से सबसे ज्‍यादा खराब रहता है. इसी मौसम में सबसे ज्‍यादा मक्‍खी और मच्‍छर पनपते हैं और उनसे बीमारियां (Diseases) फैलती हैं. इसके अलावा जल जनित और खान-पान से फैलने वाली बीमारियां भी इसी मौसम में सबसे ज्‍यादा प्रभावित करती हैं. बैक्‍टीरिया (Bacteria), फंगस (Fungus), नमी और सीलन भरा मौसम होने के कारण इस मौसम में सावधानी बरतने की खासतौर पर जरूरत होती है. साथ ही त्‍यौहारों में खान-पान को व्‍यवस्थित रखने की भी जरूरत पड़ती है.

स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों की मानें तो हर साल इसी मौसम में कुछ गंभीर बीमारियां पैदा होती हैं. इस बार भी अस्‍पतालों में मरीजों की भीड़ बढ़ना शुरू हो गई है. इन मौसमी और त्‍यौहारी बीमारियों के अलावा इस समय संक्रामक रोग कोरोना (Corona), मंकीपॉक्‍स के भी मरीज मिल रहे हैं. लिहाजा डॉक्‍टर लोगों से सावधान होने की अपील कर रहे हैं. श्री कृष्‍ण जन्‍माष्‍टमी (Sri Krishna Janmashtami) के बाद अब नवरात्र, पितृ पक्ष, दीपावली (Deepawali), गोवर्धन पूजा भाई दूज आदि अन्‍य पर्व आने वाले हैं. इस दौरान सभी घरों में पकवान आदि बनते हैं और कई बार बीमारियों का कारण बन जाते हैं.

खानपान से हो रही बीमारियां
. गैस्‍ट्रोएंट्राइटिस
. दस्‍त
. उल्‍टी होना
. जी मिचलाना
. वायरल डायरिया
. डायरिया
. पेट में दर्द
. ईकोलाई
. साल्‍मोनेलोसिस
. हेपेटाइटिस या पीलिया
. ईएनडी
. टाइफॉइड या पैरा टाइफॉइड

बरसात में और मच्‍छरों से होने वाली बीमारियां
. खांसी जुकाम
. वायरल फीवर
. डेंगू
. चिकनगुनिया
. मलेरिया

विशेषज्ञ बोले, ऐसे रखें ध्‍यान
दिल्‍ली स्थित जीबी पंत अस्‍पताल के मेडिकल सुप्रिटेंडेंट डॉ. सुनील एम रहेजा बताते हैं कि त्‍यौहार शुरू हो चुके हैं, इसके अलावा भी इस मौसम में खानपान को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है. इस मौसम में मच्‍छर जनित और खान-पान में लापरवाही संबंधी बीमारियों के मरीज सबसे ज्‍यादा आ रहे हैं. अगर किसी को बुखार आ रहा है तो उसको नजरअंदाज न करें. पानी ज्‍यादा से ज्‍यादा खाएं. बाजार की बनी हुई चीजें न खाएं. तली हुई चीजें न खाएं. अपने घर में या घर के आसपास पानी का जमाव न होने दें. व्रत रख रहे हैं तो बहुत ज्‍यादा देर तक खाली पेट न रहें. हल्‍का और सुपाच्‍य भोजन करें. व्रत में फल खाएं और पानी पीएं.

Tags: Disease, Doctor, Food



Source link

पिछला लेखअखिलेश यादव ने दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया  के खिलाफ सीबीआई  कार्रवाई की निंदा की
अगला लेखसरकारी नौकरी: भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर ने साइंटिफिक असिस्टेंट सहित 36 पदों पर निकाली भर्ती, कैंडिडेट्स 12 सितंबर तक करें अप्लाई
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।