आज का शब्द: आकलन और यतींद्रनाथ राही की कविता- वंचना है कल नए दिनमान की

0
1


                
                                                             
                            'हिंदी हैं हम' शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- आकलन, जिसका अर्थ है- किसी के गुण, मूल्य, महत्व आदि को आँकने की क्रिया, अनुमान। प्रस्तुत है यतींद्रनाथ राही की कविता- वंचना है कल नए दिनमान की
                                                                     
                            

वंचना है
कल नए दिनमान की
बातें करो मत!

महक रिश्तों में कहाँ है
काग़ज़ी हैं फूल सारे
एक माया जाल में
उलझे हुए पंछी विचारे
क्या करें ये डालियाँ ही
नीड़ अपने छल रही हैं
स्वप्न निद्रा है
किसी उद्गान की
बातें करो मत।

आगे पढ़ें

56 minutes ago



Source link

पिछला लेखमहाराष्ट्र में दर्ज हुए 1881 नए केस, दिल्ली का ये है हाल
अगला लेखजल्द ही Co-WIN पर स्वयंसेवकों के रक्तदान के लिए रजिस्ट्रेशन की सुविधा शुरू होगी
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।