अस्थमा मरीज भूलकर भी न खाएं ये 5 चीजें, तत्काल बना लें दूरी, सेहत को होगा नुकसान

0
0


हाइलाइट्स

अस्थमा एक ऐसी स्थिति है जिसमें फेफड़ों तक जाने वाली श्वासनली पतली होने लगती है
दमा के मरीजों को कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए. यह एसिड रिफलेक्स को बढ़ा देती है.

Which food should avoid in asthma: अस्थमा की बीमारी अपने आप में परेशानियों का सबब है लेकिन अगर खाने-पीने की चीजों में परहेज न किया जाए तो बीमारी और भी ज्यादा कष्ट देने लगती है. दरअसल, अस्थमा एक ऐसी स्थिति है जिसमें फेफड़ों तक जाने वाली श्वासनली पतली होने लगती है और इसमें अक्सर सूजन होने का खतरा रहता है. इसके साथ ही सर्दियों के मौसम में श्वास नली में म्यूकस भी ज्यादा बनने लगता है जिससे हमेशा गले में बलगम भरा रहता है. इन सब कारणों से सांस फूलने लगती है और मरीज को सांस लेने में भारी तकलीफ होती है. दमा के कुछ मरीजों में कुछ चीजें दुश्मन की तरह काम करती है जिससे परेशानियां कई गुना बढ़ जाती है. आइए जानते हैं दमा के मरीजों को क्या नहीं खाना चाहिए और किन चीजों से करना चाहिए परहेज.

इसे भी पढ़ें-  Prevention of asthma: सर्दी में क्यों परेशान करने लगता है अस्थमा, जानिए कैसे करें इससे बचाव

दमा के मरीज इन चीजों से बना लें दूरी

हेल्थ वेबसाइट वेबएमडी के मुताबिक दमा के मरीजों के लिए सर्दी में कुछ चीजों से परहेज करनी होती है. दमा के कुछ मरीजों में कुछ फूड एलर्जिक होते हैं. इसलिए उन्हें ये फूड नहीं खाना चाहिए जबकि कुछ चीजें दमा के हर मरीजों को खाने की मनाही है. आमतौर पर जो ठंडी चीजें होती हैं, उससे दमा के मरीजों को एलर्जी हो सकती है. वहीं पैकेटबंद फूड आइटम और सल्फेटयुक्त फूड आइटम दमा के मरीजों को नहीं खाना चाहिए.

पैकेटबंद फूड-पैकेटबंद फूड को प्रिजर्व करने के लिए कई तरह के केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है. ये फूड दमा के मरीजों के लिए दुश्मन की तरह है. वहीं जिस फूड आइटम में पोटैशियम बायसल्फेट, सोडियम सल्फेट, पोटैशियम मेटाबायसल्फेट आदि का इस्तेमाल किया जाता है, उन चीजों से भी दूरी बना लेनी चाहिए.

  • शराब और अचार-अचार और शराब को प्रिजर्व करके रखा जाता है. इसमें सोडियम सल्फेट की मात्रा बढ़ जाती है. ये दोनों चीजें अस्थमा के लक्षण को कई गुना बढ़ा देती है. परिरक्षक के रूप में इस्तेमाल किए जाने वाले सल्फाइट शराब, सूखे मेवे, अचार, ताजे और जमे हुए झींगा और कुछ अन्य खाद्य पदार्थों का सेवन दमा के मरीजों के लिए दुश्मन की तरह काम करता है.
  • कॉफी-कुछ लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है. ऐसे दमा के मरीजों को कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए. क्योंकि कॉफी में मौजूद कैफीन एसिड रिफलेक्स को बढ़ा देती है. वहीं दमा के कुछ मरीजों में कॉफी का सेवन करने से फूड प्वाइजनिंग हो सकता है.
  • मूंगफली-दमा के मरीजों को मूंगफली भी नहीं खाना चाहिए. इससे एलर्जी हो सकती है. हालांकि दमा के सभी मरीजों में ऐसा हो, जरूरी नहीं. वहीं कुछ मरीजों में अंडा भी नुकसान पहुंचा सकता है.
  • सोया-सोया और सोया से बने फूड आइटम भी दमा के मरीजों को नुकसान पहुंचा सकता है. खासकर जिस सोया को फ्रीज में रखा जाता है. वहीं फ्रीज में रखी चीजों को भी तुरंत खाने से दमा के मरीजों को परहेज करना चाहिए.

दमा के मरीजों को क्या खाना चाहिए
दमा के मरीजों को सीजनल सब्जियां, फल आदि का सेवन करना चाहिए. पर्याप्त मात्रा में पानी पीना भी जरूरी है. विटामिन सी और विटामिन ई से युक्त फूड आइटम का ज्यादा सेवन करना चाहिए. हर रोज धूप में निकलना चाहिए. रोजना एक्सरसाइज भी जरूरी है.

इसे भी पढ़ें- बढ़े हुए शुगर को पूरी तरह गलाकर बाहर निकालेंगे ये 5 मोटे अनाज, डाइट में करें शामिल, तत्काल दिखेगा असर

Tags: Health, Health tips, Lifestyle



Source link

पिछला लेखकंप्यूटर साइंस में बैचलर डिग्री वालों के लिए सरकारी नौकरी पाने का बढ़िया मौका, भरे जाएंगे 2730
अगला लेखब्रिटिश पुलिस अफसर ने 24 महिलाओं से रेप किया: 12 को स्लेव बनाया, इन्हें बिना कपड़े पहनाए घर साफ कराता था
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।