होम देश टॉप स्टोरी असलियत बता रहे तो तकलीफ क्यों? नूपुर शर्मा के समर्थन में बोलीं...

असलियत बता रहे तो तकलीफ क्यों? नूपुर शर्मा के समर्थन में बोलीं प्रज्ञा ठाकुर

0
0


Image Source : FILE PHOTO
 Pragya Thakur

Highlights

  • ‘ज्ञानवापी में भगवान शिव का मंदिर था, है और रहेगा- प्रज्ञा
  • ‘देवी-देवताओं के अपमान को कैसे सहन कर सकते हैं?’
  • ‘नूपुर के साथ खड़े होने के लिए ठाकुर के खिलाफ कार्रवाई होगी’

Prophet Row: अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाली बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर एक बार फिर चर्चा में हैं। इस बार उन्होंने बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में बयान दिया है। दरअसल, पैगंबर मोहम्मद पर नूपुर शर्मा के विवादस्पद बयान को लेकर देश के कुछ हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है। इसी बीच, साध्वी प्रज्ञा ठाकर ने नूपुर शर्मा का समर्थन करते हुए कहा कि अगर कोई हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करता है, तो ऐसे लोगों को सच बताया जाएगा। 

भोपाल से सांसद प्रज्ञा ठाकुर की टिप्पणी के बाद मध्य प्रदेश में विपक्षी दल कांग्रेस ने बीजेपी से स्पष्टीकरण मांगा है। बीजेपी नूपुर शर्मा को विवादित टिप्पणी के कारण पार्टी से निलंबित कर चुकी है। ठाकुर ने शुक्रवार को भोपाल में पत्रकारों से बात करते हुए कहा, “यह सत्य है कि ज्ञानवापी में भगवान शिव का मंदिर था, है और रहेगा। इसे फव्वारा कहना गलत है। यह हमारे हिंदू देवी-देवता औैर सनातन धर्म पर कुठाराघात है, इसलिए हम असलियत बताएंगे।” 

‘सच कहना अगर बगावत है, तो समझो हम भी बागी हैं- प्रज्ञा ठाकुर

उन्होंने कहा, “हमारी असलियत तुम बता दो हमें स्वीकार है, लेकिन तुम्हारी असलियत बता रहे हैं, तो क्यों तकलीफ है? इसका मतलब है कि कहीं न कहीं इतिहास गंदा है। सच कहना अगर बगावत है, तो समझो हम भी बागी हैं।” नूपुर शर्मा को विवादास्पद टिप्पणी के बाद फोन पर कथित रूप से धमकी मिलने के बारे में पूछे जाने पर ठाकुर ने कहा, “हमेशा विधर्मियों ने ऐसा किया है। कमलेश तिवारी (लखनऊ के एक हिंदू संगठन के नेता) ने कुछ कहा, तो उससे विधर्मियों को पीड़ा हुई और वर्ष 2019 में उसका कत्ल कर दिया गया।” 

‘ये भारत हिंदुओं का है और यहां सनातन धर्म जिंदा रखना पड़ेगा’

प्रज्ञा ने कहा, “विधर्मी अपनी गंदी मानसिकता से हमारे देवी-देवताओं को बुरा-भला बोलते हैं। फिल्मों के जरिए हमारे देवी-देवताओं का अपमान करते हैं। हम चुप रहते हैं, हमें विरोध करना होगा। हम अपने देवी-देवताओं के अपमान को कैसे सहन कर सकते हैं?” बीजेपी सांसद ने कहा, “जो इतिहास है, वो सच है। एक लंबा कम्युनिस्ट इतिहास है….ये भारत हिंदुओं का है और यहां सनातन धर्म जिंदा रखना पड़ेगा। ये हमारी जिम्मेदारी है।” 

‘बीजेपी को स्पष्ट करना चाहिए कि नूपुर का बयान देना क्या सोची-समझी योजना थी?’

ठाकुर के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के अध्यक्ष के के मिश्रा ने कहा, “बीजेपी ने नूपुर शर्मा को निलंबित कर सार्वजनिक रूप से माफी मांगी है, लेकिन बीजेपी की सांसद अब नूपुर के पक्ष में बयान दे रही हैं। बीजेपी को यह स्पष्ट करना चाहिए कि नूपुर का बयान देना क्या सोची-समझी योजना थी?” मिश्रा ने कहा कि बीजेपी को यह भी स्पष्ट करना चाहिए कि क्या वह निलंबित नेता के साथ खड़े होने के लिए ठाकुर के खिलाफ कार्रवाई करेगी। 





Source link