अमित शाह ने योगी आदित्यनाथ से कहा, यूपी में और अधिक कोरोना वायरस जांचें करने की जरूरत

0
6


तीन राज्यों में से उत्तर प्रदेश सबसे कम परीक्षण कर रहा है. बैठक में इस बात पर चर्चा की गई कि प्रति दस लाख गौतम बुद्धनगर केवल 72 और गाजियाबाद सिर्फ 78 की जांच क्यों कर रहा है. इस पर योगी आदित्यनाथ ने गृह मंत्री को आश्वासन दिया कि पहले से ही उन्होंने उच्च जोखिम वाले श्रमिकों के परीक्षण के निर्देश दिए हैं, जिसमें कई जिलों में रिक्शा चालक और सब्जी विक्रेता शामिल हैं. उत्तर प्रदेश में 6.88 लाख लोगों की क्वारंटाइन की सुविधा है.

दिल्ली प्रति दस लाख 679 जांच और गुड़गांव 482 जांचों के साथ सूची में शीर्ष पर हैं. अमित शाह ने जोर देकर कहा कि रैपिड एंटीजेन टेस्ट किट के माध्यम से अधिक परीक्षण को अपनाने से विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा सुझाए गए संक्रमण संचरण दर को 10 प्रतिशत से कम करने में मदद मिलेगी.

अमित शाह ने अधिकारियों को कोर एनसीआर क्षेत्र की मृत्यु दर में कमी लाने का भी निर्देश दिया, जिसमें दिल्ली के अलावा दो राज्यों के आठ जिले शामिल हैं. हरियाणा में- रोहतक, झज्जर, सोनीपत, गुड़गांव और फरीदाबाद और उत्तरप्रदेश के तीन जिले – गौतम बुद्धनगर, गाज़ियाबाद और बागपत.

शाह ने अधिकारियों को बताया, “जब इतिहास लिखा जाएगा, तब लोगों को याद नहीं होगा कि कितने लोगों को बचाया गया था. उन्हें याद होगा कि इस महामारी के दौरान कितने लोग मारे गए थे.”

चर्चा के आंकड़ों के अनुसार एनसीआर कोर क्षेत्र में कुल 3020 मौतें हुई हैं. इसमें से 91 प्रतिशत दिल्ली में, 4.5 प्रतिशत गुड़गांव और फरीदाबाद में और शेष अन्य जिलों में 4.5 प्रतिशत हैं. शाह चाहते हैं कि अधिकारी मृत्यु दर को एक प्रतिशत से कम करें. बैठक में यह भी चर्चा हुई कि कोरोना पॉजिटिव केस के मामले में दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में 85% केस लोड में योगदान देता है. और अन्य क्षेत्रों में 15 प्रतिशत मामले हैं.

एक वरिष्ठ नौकरशाह बताते हैं, “दिल्ली सहित इन आठ जिलों की कुल जनसंख्या लगभग चार करोड़ है और कोर एनसीआर के इस क्षेत्र में 1.02 लाख लोगो पॉजिटिव मिले हैं.” उनके अनुसार इसमें से 31 हजार अभी भी एक्टिव केस हैं. उन्होंने कहा, “31000 मामलों में दिल्ली में 85 प्रतिशत कोरोना पॉजिटिव मामले हैं और शेष क्षेत्रों में 15 प्रतिशत हैं.” 

केंद्रीय गृह मंत्री शाह ने अधिकारियों से संबंधित जानकारी साझा करने के लिए भी कहा ताकि इस घातक वायरस पर काबू पाने के लिए हर अभ्यास को अपनाया जा सके. मंत्री ने अधिकारियों से काम करने के लिए कहा है ताकि कोर एनसीआर क्षेत्र में पॉजिटिव केस की दर 10 से नीचे लाई जा सके.

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, केंद्र सरकार, उत्तर प्रदेश व हरियाणा के वरिष्ठ अधिकारी बैठक में उपस्थित थे.



Source link

पिछला लेखमासिक पंचांग: कब है चंद्र ग्रहण, गुरु-पूर्णिमा, कामिका एकादशी, कर्क संक्रांति, हरियाली तीज और नाग पंचमी, यहां जानें
अगला लेखइस स्कीम के तहत बिना कार खरीदे बने मालिक, मारुति सुजुकी लाया ये शानदार पायलट प्रोजेक्ट
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।