‘अग्निपथ’ विरोध : ट्रेन सेवाएं लगातार प्रभावित; रांची से चलने वाली 12 ट्रेनें रद्द, बनारस में फंसे बिहार आने वाले कई यात्री

0
1


फिलहाल रद्द किया गए हैं ये ट्रेन

उन्होंने बताया कि उपद्रव के चलते कई ट्रेनों का मार्ग भी परिवर्तित कर दिया गया है. निशांत कुमार के मुताबिक, जिन ट्रेन को फिलहाल रद्द किया गया है, वे इस प्रकार हैं-

1) ट्रेन संख्या 18624, हटिया-इस्लामपुर एक्सप्रेस

2) ट्रेन संख्या 12019, हावड़ा-रांची शताब्दी एक्सप्रेस

3) ट्रेन संख्या 12020, रांची-हावड़ा शताब्दी एक्सप्रेस

4) ट्रेन संख्या 12826, आनंदविहार-रांची संपर्क क्रांति एक्सप्रेस

5) ट्रेन संख्या 15028, गोरखपुर-हटिया मौर्य एक्सप्रेस

6) ट्रेन संख्या 18625, पूर्णियाकोर्ट-हटिया एक्सप्रेस

7) ट्रेन संख्या 18623, इस्लामपुर-हटिया एक्सप्रेस

8) ट्रेन संख्या 12365, पटना-रांची जन शताब्दी एक्सप्रेस

9) ट्रेन संख्या 18621, पटना-हटिया एक्सप्रेस

10) ट्रेन संख्या 15027, हटिया-गोरखपुर मौर्य एक्सप्रेस

11) रांची-दुमका एक्स्प्रेस

12) रांची-गोड्डा एक्स्प्रेस

निशांत कुमार ने बताया कि शनिवार के हालात को देखते हुए रांची मंडल में चलने वाली अन्य ट्रेन के बारे में भी फैसला लिया जाएगा. हालांकि, उन्होंने कहा कि रेलवे ज्यादा से ज्यादा ट्रेन को चलाने का प्रयास कर रहा है, जिससे यात्रियों को असुविधा का सामना न करना पड़े.

इधर, बिहार में चल रहे धरना प्रदर्शन के कारण यात्री सुरक्षा और संरक्षा के मद्देनजर दूसरे क्षेत्रीय रेलों से खुलकर पूर्व मध्य रेल क्षेत्राधिकार से गुजरने या पहुंचने वाली ट्रेनों के परिचालन में अस्थाई बदलाव किया गया है. यात्रियों और रेल संपत्ति की सुरक्षा के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया है कि 18 जून (आज) रात आठ बजे से 19 जून सुबह चार बजे तक और फिर 19 जून को रात आठ बजे से 20 जून को रात आठ बजे तक ही पूर्व मध्य रेल क्षेत्राधिकार से गुजरने/पहुंचने वाली ट्रेनों का परिचालन किया जाएगा. 

बिहार के अलग-अलग इलाकों में जाना था

ट्रेनों के रद्द किए जाने की वजह से बहुत दूर-दूर से आए कुछ लोग विभिन्न स्टेशनों पर फंसे हुए हैं. वाराणसी के कैंट स्टेशन पर बहुत से ऐसे यात्री हैं जो दिल्ली, अमृतसर और दूसरी जगहों से पहले से तय समय के मुताबिक बनारस पहुंचे. बनारस से ट्रेन बदलकर उन्हें बिहार के अलग-अलग इलाकों में जाना था. लेकिन बनारस से बिहार जाने के लिए कोई ट्रेन नहीं है. रेलवे अपनी तरफ से उनकी मदद करने की कोशिश कर रहा है, लेकिन उनकी मदद ना काफी है.

बता दें कि केंद्र सरकार ने मंगलवार को थल सेना, नौसेना और वायुसेना में सैनिकों की भर्ती के लिए एक नई ‘अग्निपथ योजना’ का एलान किया है. इसके तहत बढ़ते वेतन और पेंशन खर्च को कम करने के लिए संविदा के आधार पर अल्पकाल के लिए सैनिकों की भर्ती की जाएगी, जिन्हें ‘अग्निवीर’ कहा जाएगा. हालांकि, केंद्र की इस योजना ने युवाओं के आक्रोश को भड़का दिया है. योजना के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन जारी है. प्रदर्शन के बीच केंद्र ने योजना में बदलाव भी किए हैं. लेकिन युवा बहाली की पुरानी पद्धति को लागू करने की मांग पर अड़े हुए हैं. 

यह भी पढ़ें –

अग्निपथ प्रदर्शन पैसेंजर्स के लिए बना मुसीबत, घंटों तक करना पड़ रहा है ट्रेन का इंतजार

अग्निपथ प्रदर्शन: 340 ट्रेन प्रभावित, 234 रद्द; रेल मंत्री ने की रेलवे की संपत्ति को नुकसान नहीं पहुंचाने की अपील



Source link

पिछला लेखLawrence Bishnoi News: ‘लॉरेंस बिश्नोई को किया जा रहा थर्ड डिग्री टॉर्चर’, गैंगस्टर के वकील ने पंजाब पुलिस पर लगाए आरोप
अगला लेखअंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2022: कम करना चाहते हैं वजन? अपनाएं ये 5 सरल और प्रभावी योगासन
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।